आंध्र प्रदेश : जंगल में हादसा, तेंदुए के दो शावकों की मौत

February 28th, 2022

हाईलाइट

  • आंध्र प्रदेश के जंगल में हादसा, तेंदुए के दो शावकों की मौत

डिजिटल डेस्क, अमरावती। आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले में दो दिन में दो अलग-अलग हादसों में तेंदुए के दो शावकों की मौत हो गई। दोनों हादसे नल्लामल्ला के जंगलों में हुए। शुक्रवार की देर रात पचेरला गांव के पास रेलवे ट्रैक पर एक शावक मृत पाया गया, जबकि दूसरा शनिवार की रात चेलामा वन रेंज के ईगल बेस कैंप में एक सड़क पर हिट-एंड-रन मामले में मारा गया।

दूसरी घटना रविवार को सामने आई। कुरनूल और प्रकाशम जिलों को जोड़ने वाले पुल के पास करीब दो साल का एक शावक मृत पाया गया। वन अधिकारियों को संदेह है कि अज्ञात वाहन ने शावक को टक्कर मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई।

नंदयाल संभागीय वनाधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि शावक की मौत का सही कारण जांच के बाद पता चलेगा। इस महीने राज्य में मारे गए तेंदुए के शावकों की संख्या बढ़कर तीन हो गई। इस महीने की शुरूआत में कडप्पा-चित्तूर राजमार्ग पर एक शावक की मौत हो गई थी।

वन विभाग ने इसे गंभीरता से लेते हुए इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए कदम उठाए हैं।वन अधिकारियों ने रेलवे अधिकारियों से वन क्षेत्र में ट्रेनों को धीमा करने का अनुरोध किया है। वे जंगलों से गुजरने वाली सड़कों, खासकर मोड़ पर स्पीड ब्रेकर लगाने के लिए भी संबंधित अधिकारियों से संपर्क करेंगे।

वन अधिकारियों ने कहा कि वे तेंदुओं की बढ़ती संख्या से खुश हैं, लेकिन ऐसी घटनाएं दर्दनाक हैं। वन अधिकारियों के अनुसार, रायचोटी के पास 9 फरवरी को कडप्पा-चित्तूर राजमार्ग पर एक संदिग्ध हिट-एंड-रन मामले में एक तेंदुए के शावक की मौत हो गई थी। लगभग दो साल की उम्र के शावक की संभावना थी कि वह पानी पीने के लिए सड़क पार कर रहा था। सड़क के विपरीत दिशा में एक तालाब है।

वन अधिकारियों ने कहा कि वे राजमार्ग अधिकारियों को वाहनों के वैकल्पिक मार्ग के रूप में एक अंडरपास बनाने और वन्य जीवन के सभी मुक्त आवागमन के लिए एक प्रस्ताव भेजेंगे।

 

 (आईएएनएस)