उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अयोध्या एयरपोर्ट का काम किया शुरू

February 19th, 2022

हाईलाइट

  • मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट का कार्य शुरू

डिजिटल डेस्क, अयोध्या। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) ने अयोध्या में मयार्दा पुरुषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है। निर्माण कार्य के लिए बोलियों को अंतिम रूप दे दिया गया है और बेंगलुरू स्थित विशाल इन्फ्रास्ट्रक्चर ने एएआई की देखरेख में अपना काम शुरू कर दिया है। इसी कंपनी को रनवे के निर्माण के लिए बोली मिली थी।

एएआई द्वारा नियुक्त परियोजना प्रभारी राजीव कुलश्रेष्ठ और तीन अन्य अधिकारियों ने कार्यभार संभाला है। अयोध्या हवाई अड्डे के निदेशक, लालजी और एएआई के दो सहायक महाप्रबंधक पहले ही नियुक्त किए जा चुके हैं। एएआई के अधिकारियों के अनुसार, परियोजना का पहला चरण लगभग डेढ़ से दो साल में पूरा हो जाएगा, जिसके लिए 150 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। परियोजना के पहले चरण में एटीआर-72 विमानों के लिए 2,250 मीटर रनवे का निर्माण किया जाना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस परियोजना की आधारशिला रखनी थी, लेकिन 8 जनवरी को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण समारोह नहीं हो सका। अधिकारियों के मुताबिक अयोध्या एयरपोर्ट का निर्माण तीन चरणों में किया जाएगा, जिसके लिए करीब 550 एकड़ जमीन की जरूरत होगी। अयोध्या हवाईअड्डे के निर्माण के लिए केंद्र द्वारा 250 करोड़ रुपये की मंजूरी के बाद, उत्तर प्रदेश सरकार ने अतिरिक्त जमीन खरीदने के लिए 321 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है। हवाई अड्डे के निर्माण के लिए 555.66 एकड़ अतिरिक्त भूमि खरीदने के लिए कुल 1,001.77 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। हवाईअड्डे पर विकास कार्यों के लिए 101 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान प्रस्तावित किया गया है।

नवंबर 2018 में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में ए320 और बी737 जैसे बड़े विमानों के लिए हवाई पट्टी के विकास और एक उपयुक्त रनवे और टर्मिनल भवन के निर्माण की घोषणा की थी। हवाईअड्डा परियोजना को राज्य सरकार द्वारा तेजी से ट्रैक किया गया था, और राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय ने भी पिछले अक्टूबर में अपनी 23 एकड़ जमीन सौंपने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी।

हवाई अड्डे के निर्माण के लिए कुलपति के आधिकारिक आवास सहित इस जमीन पर करीब 30 इमारतों को भी केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय को सौंपा जाएगा। अयोध्या हवाई अड्डा केंद्र और राज्य सरकार की कई परियोजनाओं में से एक है जिसे मंदिर शहर के लिए मंजूरी दी गई है।

 

(आईएएनएस)