• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • College exams should be conducted in time-limit - Higher Education Minister Dr. Yadav discussed with the registrars through video conferencing!

दैनिक भास्कर हिंदी: महाविद्यालयीन परीक्षाएँ समय-सीमा में कराई जायें - उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रजिस्ट्रारों से चर्चा की!

April 14th, 2021

डिजिटल डेस्क | रायसेन उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उज्जैन के बृहस्पति भवन में प्रदेश के विश्वविद्यालयों के रजिस्ट्रारों को महाविद्यालयीन परीक्षाएँ समय-सीमा में कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं के संचालन, परीक्षा परिणाम, प्रायोगिक परीक्षाएँ, नवीन पाठ्यक्रमों आदि बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की। इस अवसर पर भोपाल से प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन उपस्थित थे।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने निर्देश दिये हैं कि महाविद्यालयीन परीक्षाओं के दौरान कोरोना महामारी के चलते सरकार की गाइड-लाइन का अनिवार्य रूप से पालन किया जाये। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि एलएलबी फायनल के परीक्षा परिणाम समय पर घोषित किये जायें। परीक्षाओं की कापी विद्यार्थी स्वयं अपने नजदीकी महाविद्यालयों में जमा करवा सकते हैं। विद्यार्थियों को कोविड महामारी में किसी प्रकार की तकलीफ न उठानी पड़े, यह सुनिश्चित किया जाये। परीक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, पहनना, सरकार की गाइड-लाइन का विशेष रूप से ध्यान देकर पालन किया जाना सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देश दिये कि परीक्षा केन्द्रों की संख्या बढ़ायें। छात्रों का नामांकन एक ही बार हो, यह भी सुनिश्चित किया जाये। बार-बार नामांकन की प्रक्रिया न हो, इसका अवश्य ध्यान रखा जाये। प्रमुख सचिव, उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन ने सत्र 2020-21 की विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं के संचालन, स्नातकोत्तर प्रथम एवं तृतीय सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम, प्रायोगिक परीक्षाओं, विश्वविद्यालय, महाविद्यालय में नवीन पाठ्यक्रमों के संचालन तथा नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों के नामांकन/यूनिक आईडी/पात्रता के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की।

उन्होंने विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में नवीन पाठ्यक्रम के संचालन जैसे कृषि, वेटनरी, हार्टिकल्चर, मेडिकल कॉलेज एवं टूरिज्म, नर्सिंग एवं पैरा-मेडिकल कोर्सों के बारे में भी विस्तार से चर्चा कर संबंधित रजिस्ट्रारों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

खबरें और भी हैं...