comScore

वैक्सीनेशन में प्रगति के लिए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग जरूरी : कलेक्टर श्री रत्नाकर झा आशा संस्था के द्वारा मेहंदवानी के लिए पांच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किये गए!

वैक्सीनेशन में प्रगति के लिए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग जरूरी : कलेक्टर श्री रत्नाकर झा आशा संस्था के द्वारा मेहंदवानी के लिए पांच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किये गए!

डिजिटल डेस्क | डिंडोरी कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि जिले में कोरोना वैक्सीनेशन में प्रगति लाने के लिए सामाजिक संस्थाओं का भी सहयोग लिया जा रहा है। जिससे विभागीय अमला और सामाजिक संस्थाएं जनजागरूकता का अभियान चलाकर वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित कर सकें। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में उक्त निर्देश दिए। इस अवसर पर डिंडौरी जिले में कार्यरत आशा संस्था के द्वारा कोरोना संक्रमण से पीडित मरीजों के उपचार के लिए विकासखण्ड मेंहदवानी को पांच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किए। आयोजित बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 रमेश मरावी, डीपीएम श्री विक्रम सिंह ठाकुर, बीएमओ मेंहदवानी डॉ0 जैन, परियोजना कार्यकारी आशा श्री योगेन्द्र चौकीकर, टीम लीडर आशा मेंहदवानी श्री रफाकत हुसैन सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने बताया कि जिले में वैक्सीनेशन के लिए 31 सेंटर बनाये गए हैं। वैक्सीनेशन सेंटरों में 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण की इस महामारी से बचाव के लिए सभी व्यक्तियों का वैक्सीनेशन करना जरूरी है। जिले में वैक्सीनेशन कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विभागीय अमले के साथ सामाजिक संस्थाएं भी कार्य कर रही है। आशा संस्था के द्वारा वैक्सीनेशन को लेकर विकासखण्ड मेहंदवानी में जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जिससे सभी व्यक्ति वैक्सीनेशन कर कोरोना संक्रमण से मुक्त हो सकें। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने आशा संस्था के पदाधिकारियों को इस कार्य के लिए धन्यवाद दिया है।

आशा संस्था के पदाधिकारियों के द्वारा बताया गया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए गांव-गांव जाकर लोगों को समझाईस दी जा रही है। कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन जरूर करें। हमेशा मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सर्दी, खांसी एवं बुखार आने पर तत्काल स्वास्थ्य केन्द्रों में जाकर उपचार कराएं। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि डिंडौरी जिले में उद्यानिकी एवं मछली पालन की आपार संभावनाएं हैं। किसान फलों की खेती और मछली पालन को अपनाकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकता है। आशा संस्था के द्वारा किसानों को उद्यानिकी और मछली पालन की खेती करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जिससे जिले के किसान उद्यानिकी और मछलीपालन को अपनाकर लाभ कमा सकें। आशा संस्था के पदाधिकारियों के द्वारा बताया गया कि किसानों को उद्यानिकी और मछली पालन की खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। उद्यानिकी और मछली पालन से डिंडौरी जिले के किसान खुशहाल और समृद्ध बनेंगे। इस अवसर पर बताया गया कि ग्रामीणजनों को सब्जी उत्पादन के बारे में भी बताया जा रहा है। जिससे ग्रामीणजन अपने खेत, बाड़ी या घर में किचन गार्डन बनाकर सब्जियों का उत्पादन कर सकें।

कमेंट करें
TslqO