comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

सेवानिवृत्ति के बाद लोकनाथ राम ने अपनाया आधुनिक कृषि तकनीक : आधुनिक खेती से उत्पादन और आमदनी दोनों में हो रही वृध्दि-लोकनाथ राम!

सेवानिवृत्ति के बाद लोकनाथ राम ने अपनाया आधुनिक कृषि तकनीक : आधुनिक खेती से उत्पादन और आमदनी दोनों में हो रही वृध्दि-लोकनाथ राम!

डिजिटल डेस्क | जिला प्रशासन द्वारा खेती के आधुनिक तकनीक, उन्नत बीज आदि उपलब्ध कराकर किया जा रहा सहयोग जशपुरनगर 21 फरवरी 2021 प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के लाभ के लिए विभिन्न योजनाओं का संचालन निरंतर कर रही है। जिससे किसान इन योजनाआंे का लाभ लेकर आधुनिक खेती को अपनाए एवं अपनी आमदनी बढ़ाए। जशपुर के दुलदुला विकासखंड के ग्राम बागबुड़ी के लोकनाथ राम ने सेवानिवृत्ति के बाद शासकीय योजनाआंे का लाभ लेकर परम्परागत कृषि को छोड़कर आधुनिक कृषि को अपनाया है। लोकनाथ पहले परम्परागत खेती करते आ रहे थे।

जिससे वे फसलों की सिंचाई के लिए बरसात पर निर्भर रहते थे। वर्ष 2008 में जनपद पंचायत मनोरा के लेखापाल पद से सेवानिवृत्ति के बाद लोकनाथ ने खेती को ही अपना पूरा समय देने का निश्चय करते हुए परम्परागत खेती न कर के आधुनिक खेती करने की सोची। उनके द्वारा कृषि विभाग के अधिकारियों से सम्पर्क कर समय-समय पर दिए गए तकनीकी परामर्श लेकर वैज्ञानिक तरीके से कृषि किया जा रहा है। जिससे उनका लागत कम एवं मुनाफा अधिक हो रहा है। उन्होने कृषि उद्यानिकी, क्रेडा सहित अन्य विभागों में संचालित योजनाओं का लाभ उठाते हुए अपने लगभग 4 एकड़ की जमीन पर मिश्रीत खेती करना प्रारंभ किया। जिसमें गन्ना, मूंगफली, उड़द जैसी फसलों के साथ ही मौसमी सब्जियों टमाटर, प्याज, लहसुन, की खेती कर रहे है।

वर्तमान में रबी मौसम में उनके द्वारा मटर, गोभी एवं अन्य फसल ली जा रही है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष की खेती से उन्हे लगभग 1 लाख तक की आमदनी प्राप्त हो जाएगी। लोकनाथ को कृषि के माध्यम से आर्थिक स्वावलंबी बनाने के लिए जिला प्रशासन भी भरपूर सहयोग कर रहा है। कृषि विभाग द्वारा उन्हें विभिन्न योजनाओं की जानकारी देते हुए उन्नत किस्म की सब्जी बीज, स्प्रिंकलर सेट सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाया गया है। साथ ही उन्हें मिट्टी की उपजाऊ क्षमता बढ़ाने के लिए जैविक खाद के प्रयोग की सलाह दी। क्रेडा विभाग से अनुदान के माध्यम से उनके खेत में सोलर पैनल लगवाया गया।

जिससे उन्हें फसलों की सिंचाई करने की परेशानी नहीं रही। कृषि विभाग द्वारा उन्हें गन्ने की खेती के लिए प्रोत्साहित किया गया। इसलिए उन्होंने इस बार अपने खेत में गन्ने की खेती की हैै। अब लोकनाथ अपने खेत में मनरेगा के माध्यम से डबरी निर्माण करवाकर उसमें मछली पालन भी करना चाहते है। आधुनिक और उन्नत तकनीक से खेती करने के कारण लोकनाथ की उत्पादन भी अच्छी हो रही है और आमदनी भी। जिससे लोकनाथ और उसके परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत हो रही है और वे क्षेत्र के अन्य किसानों के लिए प्रेरणा बन रहे है। 

कमेंट करें
qjynN
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।