दैनिक भास्कर हिंदी: अजब-गजब: 75 सालों से सबके लिए रहस्य बनी हुई है 'द हिरोशिमा स्टेप्स शैडो'

May 21st, 2020

डिजिटल डेस्क। वैसे तो दुनिया में रहस्यमयी खबरों की कोई कमी नहीं है, पूरी दुनिया रहस्यों से भरी पड़ी है। पर कुछ रहस्य ऐसे भी हैं कि जिनको समझ पाना असंभव ही लगता है। हम आज आपको एक ऐसी ही आश्चर्यजनक कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसे जानकर आप हैरान हो जाएगें। जिस रहस्य के बारे में आज हम बताने जा रहे हैं वह जापान के हिरोशिमा से जुड़ा है। दरअसल हिरोशिमा शहर में एक जगह पर इंसान जैसी दिखने वाली परछाई पिछले 75 सालों से सबके लिए रहस्य बनी हुई है।

इस परछाई को 'द हिरोशिमा स्टेप्स शैडो' या 'शैडोज ऑफ हिरोशिमा' के नाम से जाना जाता है। द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जब अमेरिका ने हिरोशिमा पर परमाणु हमला किया था, तो इस जोरदार धमाके ने यहां कई लाख लोगों की जान ले ली थी। यह विध्वंसक घटना छह अगस्त 1945 को घटी थी। इस दौरान यह अजीबगरीब परछाई धमाके वाली जगह से 850 फीट की दूरी पर थी, जहां कोई व्यक्ति बैठा हुआ था। इस बारे में यहां एक किस्सा बड़ा ही मशहूर कुछ यूं हैं कि, परमाणु बम ने भले ही उस व्यक्ति को तो पूरी तरह से मिटा दिया, लेकिन उसकी परछाई मौजूद रह गई।

हालांकि इस परछाई की हकीकत क्या है इस बारे में कुछ भी पुख्ता तौर पर नहीं कहा जा सकता। इस वास्तविकता की कभी पहचान नहीं हो सकी कि आखिर परछाई में दिख रहा व्यक्ति कौन था, जो वहां पर बैठा हुआ था। एक अनुमान के मुताबिक, हिरोशिमा परमाणु विस्फोट में लगभग एक लाख 40 हजार लोगों की मौत हुई थी। जबकि बाद में परमाणु विकिरण संबंधी बीमारियों की वजह से कई हजारों लोगों की मौत हुई थी।
 

खबरें और भी हैं...