comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Auto: FCA India ने Jeep Compass की 547 यूनिट्स रिकॉल की, जानें क्या है कारण

Auto: FCA India ने Jeep Compass की 547 यूनिट्स रिकॉल की, जानें क्या है कारण

हाईलाइट

  • एसयूवी के ब्रेस नट में आई फिटमेंट की समस्या
  • ब्रेस नट वाइपर असेंबली में उपयोग होता है
  • 2020 Compass की 547 यूनिट्स शामिल

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। FCA India (एफसीए इंडिया) की Jeep Compass (जीप कम्पास) भारत में काफी पॉपुलर एससूवी है। फिलहाल कंपनी ने 2020 Jeep Compass की 547 यूनिट्स को रिकॉल किया है। इसका कारण वाइपर असेंबली में उपयोग ब्रेस नट में आई एक फिटमेंट की समस्या है। जिसे ठीक करने के लिए कंपनी ने इन कारों को वापस  मंगवाया है। इस समस्या से प्रभावित एसयूवी को इस साल ही बनाया गया था।

आपको बता दें कि कंपनी ने इस कार को भारत में साल 2017 में लाॅन्च किया था। Jeep Compass को काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिला और इस एसयूवी के लॉन्च के बाद ही अपनी सफलता के झंडे गाढ़ दिए थे।​ जिसके बाद कंपनी ने इसके कई अन्य मॉडल भी भारतीय बाजार में उतारे। 

Citroen C5 Aircross भारत में ट्रायल प्रोडक्शन हुआ शुरू, अगले साल होगी लॉन्च

कंपनी का कहना
Jeep Compass के 2020 मॉडल में आई इस समस्या को लेकर कंपनी ने ऑफिशियल स्टेटमेंट में कहा कि, "टॉर्क-इंडक्ड ब्रेस नट वाइपर पिवट असेंबली पर वाइपर आर्म को पकड़े रहना चाहिए, एक्टिवेट होने पर वह एक यूनिट के तौर पर घुमाने के लिए सक्षम होना चाहिए। ब्रेस नट में खराबी के चलते वाइपर को स्टीयरिंग व्हील के पीछे दिए गए वाइपर कॉम्बी-स्विच से एक्टिवेट नहीं किया जा सकता है। ब्रेस नट को टाइट करने से वाइपर पिवट पर इसकी पकड़ में सुधार होगा, जिससे खराबी को दूर किया जा सकेगा। यह सेफ्टी मॉडिफिकेशन कार में वाइपर फंक्शन के ठीक रहने के लिए जरूरी है।"

इंजन और पावर 
Jeep Compass में पेट्रोल और डीजन दोनों का विकल्प मिलता है। इसमें दिया गया 1368cc का पेट्रोल इंजन 5500 Rpm पर 163 Hp की पावर और 2500-4000 Rpm पर 250 Nm का टॉर्क जेनरेट करता है। वहीं इसमें दूसरा 1956cc का डीजल इंजन दिया गया है, जो कि 3750 Rpm पर 173 Hp की पावर और 1750-2500 Rpm पर 350 Nm का टॉर्क जेनरेट करता है। इस एसयूवी में मैनुअल ट्रांसमिशन और ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के का विकल्प मिलता है।

Tata Altroz XT वेरियंट को मिला ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल, जानें कीमत

ब्रेकिंग, सस्पेंशन और सुरक्षा
Compass के फ्रंट और रियर में डिस्क दिया गया है। वहीं सस्पेंशन की बात करें तो Compass के फ्रंट में लोअर कंट्रोल आर्म डिस्क के साथ मैकफर्शन स्ट्रट सस्पेंशन और रियर में स्ट्रट असेंबली के साथ मल्टी लिंक सस्पेंशन दिया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर इस एसयूवी में एयरबैग्स, ट्रैक्शन कंट्रोल सिस्टम, ESC, ABS और EBD के साथ हिल स्टार्ट असिस्ट से लैस है। कार में रिवर्स पार्किंग सेंसर भी दिया गया है।

कीमत
Jeep Compass की कीमत की बात करें तो भारत में इसकी शुरुआती एक्स शोरूम कीमत 16.49 लाख रुपए है। 

कमेंट करें
b8f1U
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।