comScore

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस को महाराष्ट्र एवं कर्नाटक की सरकारों से मिला फसल बीमा का अनुदेश

July 24th, 2020 09:30 IST
 भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस को महाराष्ट्र एवं कर्नाटक की सरकारों से मिला फसल बीमा का अनुदेश

हाईलाइट

  • भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस को महाराष्ट्र एवं कर्नाटक की सरकारों से मिला फसल बीमा का अनुदेश

नई दिल्ली, 24 जुलाई (आईएएनएस)। अग्रणी नॉन लाइफ इंश्योरर-भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस को महाराष्ट्र एवं कर्नाटक की सरकार से 800 करोड़ रुपये का फसल बीमा करने का अनुदेश मिला है, जिसके तहत यह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) के अंतर्गत किसानों की फसल का बीमा करेगा।

कंपनी को दोनों राज्यों की सरकारों से तीन साल के लिए महाराष्ट्र के छह जिलों और कर्नाटक के तीन जिलों में पीएमएफबीवाई के क्रियान्वयन के अधिकार मिले हैं।

महाराष्ट्र में अहमदनगर, नासिक, चंद्रापुर, सोलापुर, जलगांव और सतारा तथा कर्नाटक में धरवाड़, मैसूरु और कोडागु के किसान 31 जुलाई तक अपने-अपने बैंकों या कंपनी के अधिकृत प्रतिनिधियों के माध्यम से अपनी खरीफ फसल का बीमा करा सकेंगे।

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर एवं मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव श्रीनिवासन ने कहा, हमें खुशी है कि हमें महाराष्ट्र और कर्नाटक के कुछ जिलों में पीएमएफबीवाई के तहत किसानों को उनकी फसल का बीमा उपलब्ध कराने के लिए चुना गया है। इससे उन्हें प्राकृतिक संकटों व अनिश्चितताओं से अपनी फसल की रक्षा करने में मदद मिलेगी। एक जिम्मेदारी बीमाकर्ता के रूप में हमारा उद्देश्य प्राकृतिक आपदा के चलते फसल नष्ट हो जाने पर किसानों को बीमा कवरेज एवं वित्तीय सहयोग प्रदान करना है। दोनों राज्यों में किसानों के लिए फसल बीमा के क्रियान्वयन के अलावा हम पीएमएफबीवाई के बारे में उपयोगी जानकारी साझा करने के लिए इनोवेटिव टेक्नॉलॉजी एवं डिजिटल क्षमताओं का उपयोग करेंगे तथा इन जिलों में क्लेम का तीव्रता व सुगमता से निपटान करेंगे।

पीएमएफबीवाई किसानों को फसल की बुआई से लेकर कटाई, खराब फसल, कटाई के बाद फसल नष्ट होने सहित पूरे फसल चक्र में फसल को होने वाले नुकसान के लिए बीमा कवर प्रदान करता है।

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस के सीनियर वाईस प्रेसिडेंट एवं हेड (कृषि व ग्रामीण बिजनेस एवं क्लेम्स) आलोक शुक्ला ने कहा, पीएमएफबीवाई का उद्देश्य किसानों को अप्रत्याशित आपदाओं के कारण फसल को होने वाले नुकसान/क्षति से वित्तीय सुरक्षा देकर कृषि के सतत उत्पादन में मदद करना है। कृषि उत्पादन में अनिश्चितता के कारण किसानों पर आर्थिक दबाव रहता है। फसल बीमा उन्हें विपरीत मौसम के कारण होने वाले आर्थिक नुकसान से सुरक्षा प्रदान करता है। फसल बीमा किसानों की आय सुरक्षित करता है तथा खासकर आपदा के समय उन्हें मदद देता है ताकि वो खेती जारी रख सकें।

फसल बीमा महाराष्ट्र एवं कर्नाटक के इन जिलों में किसानों को क्षेत्रफल के आधार पर विभिन्न बाहरी तत्वों जैसे बाढ़, सूखा, अकाल, भूस्खलन, चक्रवात, तूफान, कीटों व बीमारियों तथा स्थानीय आपदाओं आदि से फसल को होने वाले नुकसान के लिए सुरक्षा कवर प्रदान करेगा। यह फसल की बुआई से लेकर फसल की कटाई एवं फसल कटाई के बाद तक फसल चक्र के हर चरण में बीमा कवर प्रस्तुत करेगा।

श्रीनिवासन ने कहा कि इन जिलों में शेयरक्रॉपर्स से लेकर टीनेंट किसानों तक हर किसान उल्लिखित फसलों के लिए फसल बीमा का कवरेज ले सकेंगे। वो इस योजना की विस्तृत जानकारी महाराष्ट्र एवं कर्नाटक में कृषि कार्यालयों, बैंक, कॉमन सर्विस सेंटर्स एवं कंपनी के रजिस्टर्ड ऑफिस से प्राप्त कर सकेंगे तथा पीएमएफबीवाई के तहत इंश्योरेंस कवर प्राप्त कर सकेंगे।

श्रीनिवासन ने कहा, हम इन जिलों में मास मीडिया, जैसे रेडियो, टेलीविजन, होडिर्ंग एवं स्थानीय घोषणाएं करके जागरुकता अभियान चलाएंगे और किसान समुदाय को इस योजना की उपयोगिता व फायदों पर शिक्षित करेंगे।

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस सरकार द्वारा स्पॉन्सर्ड फसल बीमा योजना में पिछले कई सालों से हिस्सा ले रहा है और यह बिहार, कर्नाटक, गुजरात, झारखंड एवं महाराष्ट्र में 28.44 लाख किसानों को बीमा प्रदान कर चुका है। वित्तवर्ष 2019-20 में कंपनी ने गुजरात, झारखंड एवं महाराष्ट्र में 8.83 लाख किसानों का बीमा किया। इस योजना के तहत कंपनी 3.8 लाख से ज्यादा किसानों को फसल बीमा के तहत लाभ दे चुकी है।

कमेंट करें
cLmaj