दैनिक भास्कर हिंदी: रोजाना जोखिम झेल रहे किराना दुकान मालिकों के लिए जरूरी है बीमा कवर, चेकबुक

December 5th, 2020

हाईलाइट

  • रोजाना जोखिम झेल रहे किराना दुकान मालिकों के लिए जरूरी है बीमा कवर, चेकबुक

नई दिल्ली, 5 दिसम्बर (आईएएनएस)। उपभोक्ता सामग्री के ढेर, किसी भी सामान को निकालने के लिए दूसरे सामान को धकियाना, खाद्य पदार्थों की बोरियां, माउथ फ्रेशनर्स और शैम्पू की झूलती लड़ियां, धूल भरे दुकान के कोने हाथ से लिखे प्लेकार्डस जिनमें सामग्री की कीमत लिखी हुई यह नजारा भारत के कमोबेश में हर शहर के किराना स्टोर पर देखने को मिलेगा।

लेकिन इसके पास की किराना दुकानों का प्रवेश भ्रामक लगेगा, इन्हंे जनरलाइज्ड ट्रेडिंग स्टोर्स कहा जाता है जहां भारत का खुदरा कारोबार का भारी मात्रा में सामान रखा जाता है। देश में इस प्रकार के रिटेल ट्रेडिंग कारोबार करने वालों मे करीब 90 प्रतिशत अपने साथ जनरल ट्रेडिंग स्टोर्स भी रखते हैं शेष बचे 10 प्रतिशत या तो संगठित खाद्य सामग्री विक्रेता और सुपर मार्केट के तौर पर हैं जिनका अपने किराना स्टोर्स जहां वे खाद्य सामग्री से लेकर हर घरेलू उपयोग की चीजों की आपूर्ति करते हैं।

ऑनलाइन रिटेलर्स और अत्याधुनिक चेन रिटेल स्टोर्स की कड़ी चुनौतियों के सामने, वे न केवल जीवित रहने में सफल रहे, बल्कि कोरोना वायरस महामारी के कारण देशव्यापी लॉकडाउन के बावजूद उन्होंने अपनी वापसी की। जहां आधुनिक डिपार्टमेन्टल स्टोर और ऑनलाइन रिटेलर्स लॉकडाउन के दौरान संघर्ष करते रहे, वहीं किराना स्टोर उपभोक्ताओं को आवश्यकताएं प्रदान करने में फ्रंट रनर के रूप में उभरे। भले ही चीजों में काफी कमी आई हो, लेकिन देशभर में मौजूदा 66.5 लाख किराना स्टोर्स ने उपभोक्ताओं का जबरदस्त विश्वास हासिल किया है।

इस बारे में चेकबुक के सहसंस्थापक एवं चीफ मार्केटिंग आफिसर मोहित गोयल ने कहा किराना स्टोर के मालिक उपभोक्ताओं की कई जरूरतों को पूरा करते रहे, वे अक्सर किसी भी अप्रत्याशित आपात स्थिति से खुद को बचाना भूल गए। इन बिन्दुओं पर एक नजर डालिए कि यह छोटे व्यवसायों के मालिक किसी भी दुर्भाग्यपूर्ण घटना से खुद को और अपने व्यवसायों को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं।

1. एक टर्म इंश्योरेंस कवर प्राप्त करके : एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी प्राप्त करना एक छोटे व्यवसाय के मालिक के परिवार के वित्तीय भविष्य की रक्षा कर सकता है। एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है जहां पॉलिसीधारक के आकस्मिक निधन के मामले में जीवन बीमा कवर के बराबर राशि का भुगतान नामांकित व्यक्ति को किया जाता है। मन की पूर्ण शांति सुनिश्चित करने के लिए,कोई भी राइडर्स के लिए भी आवेदन कर सकता है, बेस टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी के दायरे और कवरेज को बढ़ा सकता है। इसलिए व्यक्तिगत किराना दुकान मालिक अपने परिवार और व्यवसाय दोनों को ही पर्याप्त कवर के साथ जीवन बीमा का विकल्प चुन उनकी रक्षा कर सकता है।

2. हैल्थ इंश्योरेंस कवर प्राप्त करके : किराने का सामान स्टॉक करने, वितरकों के साथ बैठकें करने और कारोबार के लिए पैसों की व्यवस्था करने, किराने की दुकान के मालिकों जैसे छोटे व्यवसाय के मालिकों के व्यस्त कार्यक्रम के बीच, शायद ही कभी अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य की रक्षा करने पर ध्यान देते हैं। किसी भी प्रकार की आपातकालीन चिकित्सा उनके कारोबार के लिए बाधक बन सकती है। जो पैसा उन्होंने अपने कारोबार विस्तार के लिए बचा रखा है उसे उन्हें हैल्थ केयर खचरे में व्यय करना पड़ जाता है। हैल्थ बीमा कवर व्यापारी की वित्तीय एवं शारीरिक स्वास्थ्य दोनो को रक्षा प्रदान करता है। एक उचित इंश्योरेंस प्लान अस्पताल में भर्ती खचरें की पूरी श्रृंखला से कवरेज प्रदान करेगा। इसके अलावा वे श्रेष्ठतम चिकित्सा प्राप्त कर सकेंगे, यह एक प्रकार से उन्हे भविष्य के खचरें जैसे ओपीडी और डे-केयर ट्रीटमेंट सुविधाएं भी प्रदान करता है।

3. अग्नि और चोरी बीमा कवर प्राप्त करके : सम्पत्ति बीमा के रूप में भी जाना जाता है, एक आग और चोरी कवर, किराने की दुकान के मालिकों के लिए जरूरी है, क्योंकि यह प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं से उनकी दुकानों और उनकी सामग्री की रक्षा करेगा। आग, भूकम्प, बाढ़, सेंधमारी आदि जैसी घटनाएं अचानक हो सकती हैं, जिससे छोटे व्यापार मालिकों को पर्याप्त वित्तीय नुकसान हो सकता है। इस तरह का बीमा कवर किसी भी आपदा के के समय सम्पत्ति की रक्षा करता है क्योंकि यह दुकान के भीतर होने वाली टूटफूट की मरम्मत के लिए और यहां तक कि फिर से उसे बसाने के लिए सहायता प्रदान करता है। कई प्रॉपर्टी इंश्योरंेस कम्पनियां एक व्यापक कवर के लिए प्रदान करती हैं, जिसमें चोरी, चोरी और आतंकवादी कृत्यों के समय सुरक्षा शामिल है।

4. मनी इंश्योरेंस पॉलिसी प्राप्त करके : सभी कारोबार मालिकों के लिए पैसे का लेनदेन महत्वपूर्ण रहता है, और इसमें किराना दुकान के मालिक कोई अछूते नहीं हैं। एक मनी इंश्योरेंस पॉलिसी चेक, ड्राफ्ट, कैश इत्यादि के माध्यम से फण्ड ट्रांसफर करते समय किसी को नुकसान के जोखिम से बचा सकती है। दूसरे शब्दों में, यह कैश ट्रांजेक्शन के लिए एक व्यापक कवर प्रदान कर सकता है। इसके अलावा यह दुकान की तिजोरी में रखी नकदी के चोरी या नुकसान होने की स्थिति में यह सुरक्षा प्रदान करता है, क्यों कि दुकान बंद करने के बाद चोरी और संेधमारी का खतरा रहता है। कई बीमा कम्पनियां अपनी फायर इंश्योरंेस पॉलिसीज के साथ यह अतिरिक्त सुविधा प्रदान करती हैं।

5. वाहन बीमा प्राप्त करके : बड़ी संख्या में किराना दुकान के मालिक अपने व्यवसाय और व्यक्तिगत जरूरतों के लिए दोपहिया और कारों या टैम्पो पर निर्भर रहते हैं। इसलिए व्यक्तिगत वाहन बीमा पॉलिसी का होना जरूरी हो जाता है। इस प्रकार की पॉलिसीज न केवल दुर्घटना में वाहन के क्षतिग्रस्त होने के साथ ही थर्ड पार्टी क्लेम्स भी प्रदान करती हैं। वाहन बीमा वाहन चोरी या वाहन के प्राकृतिक नुकसान के कारण क्षतिग्रस्त होने के कारण उत्पन्न होने वाली क्षति के लिए भी सहायता प्रदान करेगा। वाहन बीमा होने से उन्हें मोटर वाहन अधिनियम का अनुपालन करने में भी मदद मिलती है।

किराना दुकान मालिक उपयुक्त बीमा पॉलिसियों का चयन करके अपनी, अपने प्रियजनों और अपने बेशकीमती छोटे व्यवसाय की रक्षा कर सकते हैं। एक मजबूत बीमा पोर्टफोलियो होने से किसी भी अप्रत्याशित घटना या अप्रत्याशित आपातकाल से सुरक्षा मिलेगी। बीमा पॉलिसी खरीदते समय, विश्वसनीय और विश्वसनीय बीमाकर्ता का चयन करना महत्वपूर्ण है। किसी को भी अलग-अलग योजनाओं की तुलना करनी चाहिए और महत्वपूर्ण बेंचमार्क जैसे कि दावा निपटान अनुपात और सॉल्वेंसी अनुपात की जांच करनी चाहिए। इसके साथ, यह सबसे अच्छी विशेषताओं के साथ एक प्लान पर पॉलिसी वर्डिग्स और शून्य को ध्यान से पढ़ने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

जेएनएस