दैनिक भास्कर हिंदी: विश्व के टॉप इकोनॉमिक पॉलिसी एक्सपर्ट कृष्णमूर्ति बने भारत के नए CEC

December 8th, 2018

हाईलाइट

  • केंद्र सरकार ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम को नया चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर नियुक्त किया है।
  • अरविंद सुब्रमण्यम के जाने के बाद ये पद खाली हुआ था।
  • कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम की नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम को नया चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर नियुक्त किया है। अरविंद सुब्रमण्यम के जाने के बाद ये पद खाली हुआ था। अरविंद सुब्रमण्यम ने जून महीने में निजी कारणों का हवाला देते हुए इस्तफी दे दिया था। कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम की नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है।

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस (ISB) में पढ़ाते हैं। ISB भारत का एक मात्र संस्थान है जिसकी गिनती विश्व के टॉप 100 संस्थानों में होती है। फिलहाल सुब्रमण्यम ISB में एसोसिएट प्रोफेसर और सेंटर फॉर एनालिटिकल फाइनेंस के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं। उन्होंने शिकागो बूथ से पीएचडी की है। सुब्रमण्यम को बैंकिंग, कॉर्पोरेट गवर्नेंस और इकोनॉमिक पॉलिसी का एक्सपर्ट माना जाता हैं। उनकी गिनती विश्व के टॉप एक्सपर्ट्स में होती है। उनकी बैंकिंग, लॉ एंड फाइनेंस, इनोवेशन एंड इकोनॉमिक ग्रोथ और कॉर्पोरेट गवर्नेंस को लेकर किए गए शोध को विश्व की अग्रणी पत्रिकाओं में प्रकाशित किया गया है।

बता दें कि कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम से पहले अरविंद सुब्रमण्यम चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर थे। उन्हें सरकार ने 16 अक्टूबर, 2014 में तीन साल के लिए आर्थिक सलाहकार के पद पर नियुक्त किया था। इसके बाद 2017 में उनका कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ा दिया गया था। जून में उन्होंने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था। 

खबरें और भी हैं...