comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

फरवरी माह में 76 नसबंदी शिविरों का आयोजन प्रत्येक शिविर में 30 आपरेशन का लक्ष्य

January 30th, 2021 15:13 IST
फरवरी माह में 76 नसबंदी शिविरों का आयोजन प्रत्येक शिविर में 30 आपरेशन का लक्ष्य

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। परिवार कल्याण कार्यक्रम के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग द्वारा माह फरवरी 2021 में जिले के विभिन्न स्थानों पर 76 नसबंदी शिविरों के आयोजन का कार्यक्रम बनाया गया है। इनमें से 44 शिविर महिलाओं के नसबंदी आपरेशन के लिए तथा 32 शिविर पुरूषों के नसबंदी आपरेशन के लिए लगाये जायेंगें। प्रत्येक नसबंदी शिविर में 30 नसबंदी आपरेशन का लक्ष्य रखा गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. मनोज पांडेय ने इस संबंध में बताया कि महिलाओं के नसबंदी आपरेशन के लिए 01 फरवरी को किरनापुर, लांजी व बैहर, 03 फरवरी को कटंगी व लामता, 04 फरवरी को वारासिवनी, खैरलांजी व परसवाड़ा, 06 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा, 08 फरवरी को किरनापुर, लांजी व बैहर, 10 फरवरी को कटंगी व लामता, 11 फरवरी को वारासिवनी, खैरलांजी व परसवाड़ा, 13 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा, 15 फरवरी को किरनापुर, लांजी व बैहर, 17 फरवरी को कटंगी व लामता, 18 फरवरी को वारासिवनी, खैरलांजी व परसवाड़ा एवं 20 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा में नसबंदी शिविर लगाया जायेगा। इसी प्रकार 22 फरवरी को किरनापुर, लांजी व बैहर, 24 फरवरी को कटंगी व लामता, 25 फरवरी को वारासिवनी, खैरलांजी व परसवाड़ा एवं 27 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा शिविर लगाया जायेगा। इसके अलावा जिला चिकित्सालय बालाघाट में महिलाओं के नसबंदी आपरेशन के लिए 06, 13, 20, 27 फरवरी को शिविर लगाया जायेगा। पुरूषों के नसबंदी आपरेशन के लिए 01 फरवरी को लांजी व बैहर, 03 फरवरी को लामता, 04 फरवरी को वारासिवनी व परसवाड़ा, 06 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा, 08 फरवरी को लांजी व बैहर, 10 फरवरी को लामता, 11 फरवरी को वारासिवनी व परसवाड़ा, 13 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा, 15 फरवरी को लांजी व बैहर, 17 फरवरी को लामता, 18 फरवरी को वारासिवनी व परसवाड़ा, 20 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा, 22 फरवरी को लांजी व बैहर, 24 फरवरी को लामता, 25 फरवरी को वारासिवनी व परसवाड़ा, 27 फरवरी को लालबर्रा व बिरसा में शिविर लगाया जायेगा। इसके अलावा जिला चिकित्सालय बालाघाट में शनिवार 06, 13, 20 एवं 27 फरवरी को शिविर लगाकर पुरूषों के नसबंदी आपरेशन किये जायेंगें। जिले के विभिन्न स्थानों पर लगने वाले इन शिविरों में विशेषज्ञ सर्जन द्वारा नसबंदी के आपरेशन किये जायेंगें। जिले के विवाहित दम्पत्तियों से अपील की गई है कि वे अपना परिवार सीमित रखें और बच्चे दो से अधिक न होने दें। परिवार नियोजन के स्थाई साधन के रूप में नसबंदी आपरेशन को अपनाने कहा गया है। महिला को नसबंदी आपरेशन के लिए बाध्य करने की बजाय पुरूष को नसबंदी आपरेशन के लिए आगे आने की सलाह दी गई है। महिला का नसबंदी आपरेशन पुरूषों की तुलना में अधिक जटिल होता है। जबकि पुरूष का नसबंदी आपरेशन आसान होता है और बहुत ही कम समय में हो जाता है।

कमेंट करें
V0YBu