comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

नर्मदा के आंचल में गंदगी फैलाई तो होगी कार्रवाई-चौहान

नर्मदा के आंचल में गंदगी फैलाई तो होगी कार्रवाई-चौहान


डिजिटल डेस्क अनूपपुर। नर्मदा को स्वच्छ और निर्मल बनाए रखने के लिए इसके उद्गम स्थल अमरकंटक में पक्के निर्माणों पर रोक लगाई जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को अमरकंटक में यह बात कही। उन्होंने कहा कि नर्मदा को सदानीरा बनाए रखने के लिए आवश्यक है कि अमरकंटक क्षेत्र में पक्के निर्माण कार्यों को प्रतिबंधित किया जाए। यहां किसी भी पक्के निर्माण की अनुमति ही न दी जाए। पक्के शासकीय भवनों का निर्माण भी न हो। सीएम ने यहां पवित्र नगरी में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय की प्रसाद योजना के अंतर्गत 49.98 करोड़ की लागत के विकास कार्यों का शिलान्यास व मिनी स्मार्ट सिटी योजना के तहत 8.01 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण भी किया।
 सीएम ने कहा कि नर्मदा कल-कल कर बहती रहे, इसके लिए जंगल और मैदान को बचाना जरूरी है। इस नेक कार्य में सभी को सहयोग करना चाहिए। मुख्यमंत्री के साथ केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल व मप्र शासन की पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर भी मौजूद थीं।
कांच के पुल का प्रस्ताव-
कार्यक्रम के दौरान अनूपपुर कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर विदेशों की तर्ज पर सोनमूड़ा और कपिलधारा जलप्रपात में कांच का पुल बनाए जाने का प्रस्ताव भी रखा। उन्होंने कि इस तरह के पुल के निर्माण से सैलानी नर्मदा की वादियों का पूरा सौंदर्य अच्छे से देख सकेंगे। इसको लेकर केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि आप योजना को राज्य शासन के माध्यम से हम तक भेजें, हम उसे पूरा करेंगे।
जंगल में बनेंगी ध्यान कुटी-
सीएम ने कहा कि नर्मदा के उद्गम स्थल में बड़ा सुकून है। यहां जंगल के अंदर ध्यान कुटी बनाई जाएंगी। इन कुटियों में लोग आध्यात्मिक साधना कर सकेंगे। इससे पूर्व मंच से जब फूलमालाओं से सीएम के स्वागत के लिए आवाज दी गई तो उन्होंने माला पहनने से इंकार कर दिया। सीएम ने कहा कि यहां केवल मां नर्मदा का वंदन और सम्मान ही उचित है।
भास्कर की खबर को संज्ञान में लेकर दिए निर्देश -
सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) को लेकर दैनिक भास्कर में प्रकाशित खबर को संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री ने कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर को मंच पर बुलाया। उन्होंने खबर का जिक्र करते हुए निर्देश भी दिए कि 6 महीने के अंदर एसटीपी का निर्माण कार्य पूरा हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि निर्माण में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि एसटीपी से शुद्ध होकर निकलने वाले जल को सीधे नर्मदा में नहीं मिलाना चाहिए। इसका उपयोग पौधारोपण एवं पौधों की सिंचाई में किया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि आश्रमों से भी इस संबंध में बात की जाए कि वहां से निकलने वाला निस्तारी पानी सीधे नर्मदा में न मिले। उन्होंने कटाक्ष भी किया कि लोग बात मानें तो ठीक... नहीं तो प्रदेश में तोडफ़ोड़ भी जारी है।
गोटेगांव में किया लोकार्पण-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव भी पहुंचे। यहां उन्होंने नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा का अनावरण किया। उन्होंने 90 करोड़ के विकास कार्यों के पूजन के साथ स्टेडियम का भी नेताजी सुभाषचंद्र के नाम पर नामकरण किया। वे यहां राष्ट्रीय कबड्डी प्रतियोगिता के आयोजन में शामिल होने आए थे।
 

कमेंट करें
C8zJr
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।