दैनिक भास्कर हिंदी: बालाघाट : पुलिस-नक्सलियों के बीच फायरिंग, 14 लाख का इनामी गिरफ्तार

March 9th, 2021

* मलकुआ जंगल में तीन दिन पूर्व नक्सली मूवमेंट की मिली थी सूचना * सर्चिंग के दौरान पकड़ाया टाडा दलम का नक्सली
डिजिटल डेस्क बालाघाट ।
जिले की लांजी तहसील अंतर्गत चौकी देवरबेली के ग्राम मलकुआ जंगल क्षेत्र में सोमवार सुबह 6 से 7 बजे के बीच पुलिस और नक्सलियों के बीच फायरिंग का मामला प्रकाश में आया है। इसमें टाडा एरिया कमेटी के सदस्य श्यामलाल उर्फ मोतीराम सनकु जांगधुर्वे (55) निवासी कटेझरी, तहसील धनोरा जिला गढ़चिरौली (महाराष्ट्र) को गिरफ्तार किया गया। बताया गया है कि नक्सली श्यामलाल पर 14 लाख का इनाम है। वह लंबे समय से टाडा एरिया कमेटी से जुड़ा था, जो ग्रुप में रहकर नक्सलियों के हथियारों की रिपेयरिंग का भी काम करता था। पुलिस के मुताबिक हाल ही में ग्राम चिलकोना में सड़क ठेकेदार के एक ट्रक और दो ट्रैक्टरों को आग लगाने वाली घटना में भी श्यामलाल शामिल था। 
तीन राज्यों में 84 अपराध हैं दर्ज
नक्सली श्यामलाल पर मध्यप्रदेश में 15, छत्तीसगढ़ में 8 और महाराष्ट्र में 61 कुल 84 अपराध दर्ज हैं। इसके ऊपर तीनों राज्यों ने कुल 14 लाख रुपए (3 लाख मध्यप्रदेश, 5 लाख छत्तीसगढ़, 6 लाख महाराष्ट्र) का इनाम रखा था।  
पुलिस से घिरता देख नक्सलियों ने शुरू की फायरिंग 
प्रेसवार्ता में एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया, मुखबिर से पुलिस और हॉकफोर्स को बीते 6 मार्च को ग्राम मलकुआ, चिलकोना जंगल क्षेत्र में टाडा एरिया कमेटी के प्रतिबंधित माओवादी नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना मिली थी। नक्सलियों की धरपकड़ और घेराबंदी की कार्यवाही करने के लिए हॉकफोर्स देवरबेली मलकुआ चिलकोना जंगल क्षेत्र में सर्चिंग करने रवाना हुई। तीन दिन की सर्चिंग के बाद सोमवार सुबह पुलिस पार्टी द्वारा खुद को घिरता देख नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान कुछ नक्सली हथियारों से लैस और नक्सल वर्दी में दिखाई दिए। पुलिस पार्टी पर फायरिंग करते हुए नक्सली जंगल की ओर भाग निकले। 
नक्सली से नक्सल साहित्य और पर्चे बरामद 
पुलिस टीम द्वारा घिरता देख नक्सलियों ने बचने के लिए जंगल की ओर दौड़ लगाई। पुलिस टीम ने दूर तक नक्सलियों का पीछा किया। कुछ दूरी पर एक व्यक्ति पेड़ किनारे मिला, जिसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया। उक्त व्यक्ति की तलाशी ली गई और पूछताछ पर उसने खुद को श्यामलाल उर्फ मोतीराम सनकु जांगधुर्वे टाडा एरिया कमेटी का सदस्य बताया। पुलिस ने तलाशी में उसके पास से पिट्?ठू बैग, खाद्य सामग्री, नक्सल साहित्य और पर्चे बरामद किए हैं। 
45 मिनट तक चली फायरिंग 
एसपी के अनुसार जंगल क्षेत्र में 15 से 20 नक्सली दो ग्रुप में रहे होंगे। इन नक्सलियों ने जंगल में कुछ दिन पहले मीटिंग भी की थी। नक्सलियों और पुलिस के बीच जहां फायरिंग हुई है। वहां डॉग स्क्वॉड लगाकर सर्चिंग की जा रही है। सर्चिंग से पता लगेगा कि कहीं उनके पास और हथियार तो नहीं थे, जो फायरिंग के दौरान इधर-उधर फेंक दिए हों।
इनका कहना है
ग्रामीणों के साथ के बिना नक्सली इस तरह के मूवमेंट नहीं कर सकते। पुलिस और हॉकफोर्स टीम ऐसे ग्रामीणों की जांच कर रही है, जो नक्सलियों को मदद पहुंचा रहे हैं। पकड़ में आने पर उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 
केपी वेकेंटेश्वर राव, अति. पुलिस महानिदेशक, बालाघाट जोन 

खबरें और भी हैं...