दैनिक भास्कर हिंदी: बालाघाट: नगर परिषद उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित

February 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। नगर परिषद लांजी के उपाध्यक्ष पद से नंदकिशोर तरारी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित कर दिया गया है। अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में  कुल 14 मत पड़े जबकि विपक्ष में एक मत डाला गया। उपाध्यक्ष के हटने के बाद फिर नए सिरे से उपाध्याक्ष का चयन किया जाएगा, जिसको लेकर भी अभी से उठा पठक प्रारंभ हो गई।

पुलिस बल रहा तैनात
अविश्वास प्रस्ताव नगर परिषद में सम्मिलन आयोजित किया गया था, जिसमें कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम के.सी. बोपचे, तहसीलदार राजेन्द्र पंवार और सीएमओ प्रफुल्ल गठरे मौजूद थे। जबकि सुरक्षा के लिए पर्याप्त पुलिस बल तैनात था। दोपहर 12 बजे अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में कराये गये मतदान में समर्थन में 14 मत पड़े और विपक्ष में एक वोट मिला। जिसके बाद उपाध्यक्ष पद से नंदकिशोर तरारी को हटाने की प्रक्रिया पूरी हो गई और वह बहुमत के आधार पर पद से हटाये गये हैं। अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाकर खाली कुर्सी, भरी कुर्सी का चुनाव कराने वाले विपक्ष को बड़े ही उस फैसले में हार मिली हो किन्तु इस बार परिषद के 8 भाजपा, 5 कांग्रेस और एक निर्दलीय महिला पार्षद ने मिलकर अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में मतदान कर उपाध्यक्ष को अविश्वास प्रस्ताव से हरा दिया।

रोचक होगा चुनाव
प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी और पुलिस सुरक्षा में हुए उपाध्यक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर चुनाव के बाद विपक्षियों में खुशी का माहौल है। भले ही बड़े मैदानों में दोनों एक दूसरे के घोर विरोधी हों, किन्तु परिषद के चुनाव में जिस तरह से भाजपा-कांग्रेस के गठबंधन से बसपा को हार झेलनी पड़ी है, उसे पार्षद स्थायी गठबंधन बता रहे हैं, जो परिषद के हित में था, किन्तु इसके बाद उपाध्यक्ष के होने वाले चुनाव में दोनो समर्थको में आमने-सामने की लड़ाई देखने को मिल सकती है और एक बार चुनाव रोचक हो सकता है। इस संबंध में सीएमओ ने बताया कि परिषद के पार्षदों द्वारा 5 अक्टूबर 2018 को उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास को लेकर प्रस्ताव पत्र दिया था। जिसके अवलोकन के बाद उसे विहित प्राधिकारी कलेक्टर महोदय के पास भिजवाया गया। जहां से 24 जनवरी को मिले दिशा निर्देश के बाद आज 7 फरवरी को उपाध्यक्ष के खिलाफ लाये गये अविश्वास प्रस्ताव का सम्मिलन आहूत किया गया था। जिसमें एसडीएम और तहसीलदार महोदय की मौजूदगी में अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान कराया गया। जिसमें समर्थन में 14 और विपक्ष में एक मत पड़ा है। जिसे उपाध्यक्ष के खिलाफ लाया गया प्रस्ताव बहुमत के आधार पर पारित हो गया है। नगर परिषद उपाध्यक्ष के लिए चुनाव प्रक्रिया का निर्णय वरिष्ठ स्तर पर किया जायेगा।

खबरें और भी हैं...