महाकाल के दरबार में भाजपा : नपा अध्यक्ष चुनाव के पहले बालाघाट के पार्षदों की उज्जैन में बाड़ाबंदी

August 2nd, 2022

डिजिटल डेस्क,बालाघाट। बालाघाट नगर सरकार बनाने अब भाजपा महाकाल के दरबार में उज्जैन की ओर कूच कर ली है। रविवार को दोपहर में भाजपा के निर्वाचित सभी 18 पार्षद पवन ट्रेवल्स की बस के जरिए उज्जैन के लिए रवाना हो गए है, और देर रात्रि तक उज्जैन पहुंच जाएंगे। बालाघाट के नवनिर्वाचित पार्षदों के लिए मेजबानी पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष विधायक गौरीशंकर बिसेन कर रहे है ऐसा उनके समर्थक पार्षद चर्चा में बता रहे है। बालाघाट नगर की सरकार अब महाकाल के दरबार में अपना नया अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष चुनेगी। इतना ही नही आज 1 अगस्त रविवार से पार्षदों को बालाघाट से उज्जैन के बीच की यात्रा एवं मेजबानी के बाद पुन: 6 अगस्त तक बालाघाट आने की कार्ययोजना बताई जा रही है। पार्टी सूत्रों के अनुसार यह भी कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान 5 अगस्त को या इसके पूर्व पार्षदों से मुलाकात भी कर सकते है। इस दल का नेतृत्व आयोग अध्यक्ष श्री बिसेन की पुत्री महिला नेत्री श्रीमती मौसम हरिनखेड़े कर रही है। 

अपनो से ही पद की दौड़ में न हो खतरा, बचाव में उज्जैन हुए रवाना 

नगर सरकार बनाने में स्पष्ट बहुमत हासिल होने के बाद सभी पार्टी के नेता यह मान रहे है कि पिछड़ा वर्ग आयोग अध्यक्ष विधायक गौरीशंकर बिसेन की पसंद पर ही बालाघाट नगर की सरकार बनेगी। अभी तक जिस तरह से भाऊ मौन रहकर पार्षदों को निर्णय लेने की बात कह रहे है अब यह चर्चा थम गई है कि रायशुमारी के लिए पर्यवेक्षक आएंगे और इसी बीच अध्यक्ष पद के प्रमुख दो दावेदार और तीसरे विकल्प के अलावा अन्य पार्षद भी अपना दावा वरिष्ठता के नाम पर कर रहे है। अत: विवाद से परे रहने और क्रास वोटिंग से बचने के लिए पार्षदों की बांडाबंदी स्पष्ट बहुमत से एक अधिक संख्या होने के बाद भाजपा को अपने पार्षदों को लेकर महाकाल के दरबार में दर्शन एवं पर्यटन के लिए भेजना पड़ा। 

चार निर्दलियों को भी विकास के नाम पर जोडऩे की कोशिश 

नगर सरकार के लिए भाजपा को स्पष्ट बहुमत होने के बाद भी अपनो से कहीं कुछ बात बिगड़ न जाए इसलिए पार्टी नेता नगर पालिका में विजयी अन्य चार निर्दलीय पार्षदों को विकास के नाम पर एवं उन्हें सम्मानित करने का आश्वासन दिया जा रहा है। इसमें से एक पार्षद मानक बर्वे जो कि वार्ड नंबर 21 से विजयी हुए है को निर्वाचन के दूसरे दिन ही भाऊ ने अपने बंगले में बुलाकर उनका स्वागत किया था और पार्टी का दुपट्टा भी उन्हें सम्मान में भेट किया था, परन्तु बाद में पार्षद ने कहा कि सौजन्य भेट थी, मैं किसी दल में शामिल नही हुआ हूं। विकास के लिए कार्य करूंगा।  

इधर निर्दलीय मानक बर्वे को उपाध्यक्ष बनाने मांझी समाज ने सौंपा ज्ञापन

इधर, दूसरी तरफ जिला मांझी समाज बालाघाट के प्रतिनिधि मण्डल ने मानक बर्वे के नेतृत्व में मंत्री रामकिशोर नानो कावरे से भेंट कर सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की। मांझी समाज के प्रतिनिधि मण्डल ने मानक बर्वे के पार्षद पद पर निर्वाचन किये जाने पर आभार व्यक्त किया। मांझी समाज के प्रतिनिधियों ने मानक बर्वे को नगर पालिका में उपाध्यक्ष पद का उम्मीदवार बनाए जाने की मांग की है। उन्होने सौपें ज्ञापन में कहा कि जिले में मांझी समाज को नेतृत्व का अवसर श्री बर्वे के रूप में मिला है। अत: उपाध्यक्ष पद पर उम्मीदवार बनाकर समाज को महत्व दिया जाये। मंत्री श्री कावरे ने आश्वस्त किया कि मांझी समाज की मांग को वे उचित स्थान तक पहुंचा देंगे।
 

खबरें और भी हैं...