comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कांग्रेस सांसद शशि थरूर, पत्रकार राजदीप सरदेसाई समेत सात के विरुद्ध रामनगर थाने में मामला पंजीबद्ध

कांग्रेस सांसद शशि थरूर, पत्रकार राजदीप सरदेसाई समेत सात के विरुद्ध रामनगर थाने में मामला पंजीबद्ध

गणतंत्र दिवस के अवसर पर फैली हिंसा और भ्रामक समाचारों को लेकर दर्ज कराई गई एफआईआर
डिजिटल डेस्क अनुपपुर/राजनगर। गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश की राजधानी दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में हुई घटनाओं में सोशल मीडिया और मीडिया के माध्यम से अफवाह फैला कर जनता को गुमराह करने और सरकार को बदनाम करने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए रामनगर थाना अंतर्गत ग्राम जमुडी में निवास करने वाले 31 वर्षीय युवक ज्ञानदास चौधरी ने अपने साथियों छत्रपाल रजक, अखिलेश केवट, विकास सिंह, मुरली केवट के साथ रामनगर थाने में लिखित शिकायत की जिसमें उन्होंने कांग्रेस से सांसद शशि थरूर एवं प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल के राजदीप सरदेसाई व अन्य पांच पत्रकारों के विरुद्ध हिंसा भड़काने की साजिश की शिकायत की। आवेदन के आधार पर पुलिस ने 7 लोगों के विरुद्ध अलग-अलग धाराओं में प्रकरण पंजीबद्ध किया है।
इनके विरुद्ध की शिकायत
 थाने में की गई 2 पेज की शिकायत में तमाम बिंदुओं का उल्लेख करते हुए जिन सात व्यक्तियों पर प्रकरण पंजीबद्ध करने की मांग की गई है उनमें राजदीप सरदेसाई न्यूज एंकर इंडिया टुडे, शशि थरूर संसद सदस्य राष्ट्रीय कांग्रेस नई दिल्ली, श्रीमती मृणाल  पांडे नेशनल हेराल्ड संपादक दिल्ली, जफर आगा कौमी आवाज के संपादक  दिल्ली, परेशनाथ द कारवा पत्रिका दिल्ली, अनंतनाथ कारवा के संपादक दिल्ली विनोद के जोश दिल्ली के नाम शामिल है। इनके साथ ही अन्य व्यक्तियों द्वारा भी हिंसा को भड़काने का काम किया गया है, जिनके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की गई है।
दर्ज हुआ मामला
फरियादी की शिकायत पर थाना रामनगर में पुलिस ने 7 नामजद एवं अन्य लोगों के विरुद्ध धारा 153 ए,153बी, 295ए , 298, 504 ,505( 2),506, 124 ए 34, 120 बी का मामला दर्ज किया गया है उक्त लोगों के द्वारा दिल्ली में किसान आंदोलन के समय जानबूझकर दिल्ली के पुलिस पर एक व्यक्ति की हत्या करने की अफवाह फैलाने के आरोप भी लगाए गए हैं।
विधि सम्मत होगी कार्रवाई
इस मामले में पुलिस अधीक्षक एम एल सोलंकी ने कहा कि फरियादी की शिकायत पर 7 व्यक्तियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्रदेश के दूसरे जिलों एवं देश के अन्य राज्यों में भी प्रकरण पंजीबद्ध हुआ है। इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस द्वारा की जा रही है। जांच के पश्चात तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

कमेंट करें
JKfn2