• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Chinese company refuses to take Indian laborers back to work in Mayil - told the risk of corona infection

दैनिक भास्कर हिंदी: माँयल में चीनी कंपनी ने भारतीय मजदूरों को काम पर वापस लेने से किया इंकार - बताया कोरोना संक्रमण का खतरा

June 17th, 2020

डिजिटल डेस्क बालाघाट । मध्यप्रदेश के बालाघाट में भारत सरकार के उपक्रम मैग्नीज ओर इंडिया लिमिटेड में कार्यरत चाइनीस कंपनी चाइना कोल सीसी3 नामक कंपनी ने कोविड़ 19 को लेकर किये गये लॉक डाउन के बाद दोबारा अपने भारतीय श्रमिकों की काम पर वापसी नही की है। कंपनी द्वारा इन 62 भारतीय मजदूरों को फिलहाल यह कह कर बंद कर दिया गया है कि उनके काम पर लौटने से कोरोना संक्रमण का खतरा फैल सकता है। जिसके बाद रोजी रोटी के लिये मोहताज़ हो चुके इन श्रमिको ने 16 मई को कलेक्टर कार्यालय पहुंच कर उन्हे पून: काम पर लगाने की अपील की। आज 17 मई को इन मजदूरो ने मॉयल प्रबंधन से भी चर्चा कर उन्हे पून: काम में लिये जाने की मांग की है। 
विदित हो कि ये सभी मजदूर पिछले 1 साल से इस कंपनी के लिए अंडर ग्राउंड शाफ्ट निर्माण का कार्य कर रहे थे। लॉक डाउन में कंपनी का काम बंद हो गया था। 1 सप्ताह  पहले कंपनी ने दोबारा काम शुरू किया लेकिन कोविड संक्रमण का खतरा बताकर सारे भारतीय श्रमिकों को काम पर वापस लेने से मना कर दिया। परेशान मजदूरों ने इस मामले में कलेक्टर से गुहार लगाई है। 
मॉयल प्रबंधन ने कंपनी से चर्चा कर दिलायी अंतरिम राहत
भारत सरकार की मिनी रत्न कंपनी मॉयल के प्रबंधन ने भी उनके यहां काम कर रही चाइनीस कंपनी से इन श्रमिकों को वापस लेने के लिए कहा था लेकिन चाइनीस कंपनी कोरोना के बहाने इन श्रमिकों को वापस लेने तैयार नहीं है। अब मॉयल प्रबंधन इन भारतीय मजदूरों को किसी दूसरी कंपनी में काम दिलाने की बात कर रहा है। मॉयल के डीजीएम व्ही.के. परिधा और प्रबंधक मॉयल उम्मेद सिंह भाटी ने बताया की कोविड़ 19 के चलते किये गये लॉक डाउन के दौरान मॉयल में निविदाकर्ता चायनीज़ कंपनी द्वारा अपना कार्य बंद कर दिया गया था। जिसके बाद यह कार्य एक सप्ताह पहले प्रारंभ किया गया है।  इन श्रमिको को फौरी तौर पर संबंधित कंपनी द्वारा प्रति श्रमिक 5000 रूपये की अंतरिम राहत चर्चा कर दिलायी जा रही है। इसके अलावा श्रमिको को मॉयल के किसी अन्य ठेकेदार के पास काम पर भी लगवाने का प्रयास किया जा रहा है। हमारी संबंधित कंपनी के प्रबंधन से चर्चा जारी है। जिसके बाद हालात सामान्य होते ही उन्हे पून: उस कंपनी में काम में वापस लगाया जायेगा।
इनका कहना है...
उक्त कंपनी में अभी केवल चीनी श्रमिको के साथ एक शिफ्ट में काम हो रहा है। जल्द ही श्रमिको को स्थितीयां सामान्य होते ही संंबंधित कंपनी में वापस काम दिलाया जायेगा। 
व्ही. के. परिधा, डी.जी.एम. मॉयल,
कल ही यह मामला मेरी जानकारी में आया है। इन श्रमिको को संबंधित कंपनी क्यो वापस नही ले रही है इस संबंध में मॉयल प्रबंधन से चर्चा कर अग्रिम कार्रवाई की जायेगी।
दीपक आर्य,कलेक्टर बालाघाट