कारंजा : तहसील कार्यालय पर चटनी-रोटी सत्याग्रह आंदोलन

October 29th, 2022

डिजिटल डेस्क, कारंजा (लाड़). किसान नेता गजानन अमदाबादकर व भारतीय संविधान के अभ्यासक तथा समाज क्रांति आघाड़ी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हंसराज शेंडे के संयुक्त तत्वावधान में स्थानीय तहसील कार्यालय के समक्ष लक्षीपूजन के दिन भारतीय किसानों की दुखभरी वेदनाओं को उजागर करने के लिए प्रतिकात्मक चटणी-रोटी सत्याग्रह आंदोलन किया गया । इतने पर ही ना रुकते हुए किसानों के सर्वांगिण हित के लिए शीघ्रही एक किसान परिषद लेने का निर्णय भी लिया गया । इस अवसर पर प्रभारी तहसीलदार हरणे को ज्ञापन सौंपा गया । किसानों की समस्याओं को लेकर किए गए चटणी-रोटी सत्याग्रह में समाज क्रांति आघाड़ी के राज्य संगठक तथा घुमंतू-विमुक्त जाति-जनजाति फेडरेशन आफ इंडिया के संस्थापक अध्यक्ष प्रा. दयावान गव्हाणे, बंजारा समाज कर्मचारी संगठन के कार्याध्यक्ष तथा राष्ट्रीय विमुक्त-घुमंतू जनजाति महामोर्चा के राष्ट्रीय सचिव प्राचार्य टि.वी. राठोड, विदर्भ बुरूड समाज महासंघ के अध्यक्ष प्रा. विनायकराव पद्मगीरवार, दूसरे किसान आंदोलन के नेता भारत पाटिल भगत, वाल्मिकी समाज के नेता रामेश्वर डेंडूले, सामाजिक समता प्रबोधन मंच के राजेंद्र मोडक, प्राचार्य कानकीरड, स्वतंत्रता आंदोलन के आद्यक्रांतिवीर बिरसा मुंडा संगठन के नेता राजेश मस्के, विजय वानखडे, एड. भारत सावले, शिक्षा बचाओ आंदोलक किशोर मानकर, राम नाखले, उल्हास जाधव, रेकार्डब्रेक अनशन के प्रणेता अण्णा सुरजूसे, चंद्रशेखर डोईफोडे, अहमद पठान, विनोद नंदागवली, महादेवराव ठोंबरे, विशाल ठाकरे, प्रतिक बोबडे, संदिप गावंडे, अंकुश ठाकरे, गणेश टाले, प्रशांत ढवक, अहमद सौदागर, उदेभान लांडगे, अरुण भेराने, अक्षय कानकीरड, शुभम चौधरी, चेतन सावरकर आदि शामिल थे ।

खबरें और भी हैं...