दैनिक भास्कर हिंदी: मॉयल खदान में करेंट की चपेट में आए दो युवकों की मौत : मामला संदिग्ध

May 12th, 2018

डिजिटल डेस्क बालाघाट । मैंगनीज ओर इंडिया लिमिटेड की खदान के फेरो मैंगनीज प्लांट से लगे हुए ट्रांसफार्मर के पास भरवेली के ही दो युवको के शव पाए जाने से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पुलिस सूत्रों के अनुसार युवकों की मौत प्लांट के भीतर कहीं और होने की आशंका है क्योंकि सीसीटीवी  कैमरे के फुटेज में शवों को ट्रांसफार्मर के पास रखते दिख रहा है।  पुलिस ने जानकारी में बताया कि अति सुरक्षित मॉयल परिसर जो चारो ओर से कवर्ड है और सुरक्षा कर्मी भी तैनात है उस परिसर में कोई बाहरी व्यक्ति प्रवेश करना संभव नही है जब तक किसी मॉयल से जुड़े व्यक्ति का सहयोग ना मिल जाए। ऐसी स्थिति में जब मॉयल के फुटेज देखे गए तो उक्त शव घटना स्थल से काफी दूर थे। तीन लोगों के द्वारा उठाकर शव को फेरो मैंगनीज प्लांट के पास रख दिया गया था। 

पीएम में खुलासा, करेंट से हुई मौत 
पोस्टमार्डम रिपोर्ट में यह बात सुनिश्चित हो गई कि दोनो की मृत्यु करेंट लगने से हुई है और दोनो मृतक युवक भरवेली निवासी है । मृतकों मे 22 वर्षीय निहाल पिता रतन कठौते वार्ड क्र. 5 भरवेली तथा छोटू  उर्फ करन पिता पूनाराम राठौर उम्र 30 वर्ष निवासी सिवनी कैम्प भरवेली शामिल है। पुलिस के अनुसार उक्त दोनों युवक की मृत्यु मॉयल परिसर में अवैध रूप से प्रवेश करने के बाद ही बिजली करेंट से अन्य स्थान पर हुई है, लेकिन मॉयल के द्वारा उक्त घटना को बदलने का प्रयास किया गया है।

करंट से मृतको का शव ट्रांसफार्मर के पास लाकर रखा गया है इस तरह से घटना को मोड़ देने का प्रयास क्यों किया गया यह गंभीर मामला है। इतना ही नही चारों तरफ से सुरक्षा सैनिकों की उपस्थिति के बाद बड़ी-बड़ी बाउड्री और राउंड वालें तार लगे होने के बाद भी उक्त युवक मॉयल के भीतर कैसे प्रवेश कर गए।  पुलिस के अनुसार उक्त युवकों का पूर्व में भी मॉयल से तार आदि चोरी करने का रिकार्ड पाया गया है। आशंका है कि चोरी की नियत से ही उक्त युवक मॉयल परिसर में प्रवेश किए होंगे। 

सुरक्षा में खामी, प्रबंधन का मौन  
इस संबंध में बालाघाट खान के डीजीएम श्री परिदा एवं माईन मैनेजर से मीडिया ने मौके पर पहुंचकर बात करने का प्रयास किया तो वे चर्चा के लिए उपलब्ध नही हो रहें थे और ना ही मौके पर मीडिया को प्रवेश की अनुमति थी। जिसको देखकर लग रहा है कि इतने तगड़े सुरक्षा घेरे में चोरो का प्रवेश अवैध रूप से होता रहा है और घटना को छुपाने के लिए उनका शव हटाया गया। इस संबंध में क्षेत्र के विधायक एवं म.प्र.शासन के कृषि केबीनेट मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा कि मामला संदेहजनक लग रहा है। दोनों मृतकों का शव दूर से उठाकर मौके पर रखा गया है तथा सुरक्षा घेरे के तार कटे हुए है जो अनेक संदेह को जन्म दे रहा है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक भी मौके का मुआयना कर चुके है और जांच कर मामले का खुलासा किया जाएगा। 

इनका कहना... 
उक्त घटना में दोनो ही मृतक युवक की मृत्यु बिजली करेंट से होना पीएम में पाया गया है। किन्तु फुटेज में शव को हटाकर फेरो मैंगनीज प्लांट के ट्रांसफार्मर के पास रखा गया है जिस संबंध में जांच की जा रही है।