comScore

मध्याह्न भोजन खाते ही दर्जनों बच्चे हुए बीमार, शासकीय माध्यमिक शाला मारूताल का मामला

July 13th, 2018 14:58 IST
मध्याह्न भोजन खाते ही दर्जनों बच्चे हुए बीमार, शासकीय माध्यमिक शाला मारूताल का मामला

डिजिटल डेस्क, दमोह। जिले के मारूताल गांव में शासकीय माध्यमिक शाला में गुरुवार को मध्याह्न भोजन खाने के चंद मिनटों बाद ही बच्चों की हालत बिगड़नी शुरु हो गई। जानकारी मिलने पर स्कूल प्रबंधन ने आनन फानन में बच्चों को खाना खाने से रोका, लेकिन इस दौरान करीब 40 बच्चे भोजन कर चुके थे। इन बच्चों को पेट दर्द, घबराहट के साथ ही तुरंत उल्टी दस्त शुरु हो गए। बच्चों को 108 व एम्बुलेंस की मदद से इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया, जहां उनका उपचार जारी है।

बच्चों की हलात खतरे से बाहर बताई जा रही है। वहीं प्रशासनिक स्तर पर भोजन को जब्त कर उसे खाद्य अधिकारी के सुपुर्द किया गया है। उधर, जांच के पहले ही मध्यांह भोजन वितरण करने वाला स्व सहायता समूह किचिन शेड में ताला लगाकर फरार हो गया है।

दमोह के बीआरसी पदम सिंह ने बताया है कि जानकारी मिलने पर सारा भोजन जब्त कर उसे खाद्य विभाग को जांच के लिए दिया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर स्व सहायता समूह पर कार्यवाही की जाएगी।

कमेंट करें
xVD9z
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।