रामटेक: किसानों को प्रति हेक्टेयर 25 हजार रुपए मिले मुआवजा

January 16th, 2022

डिजिटल डेस्क, रामटेक। तहसील में गत सप्ताह से मौसम में बदलाव से बेमौसम बारिश और ओलावृृृृृृष्टि हुई। इससे खेतों में खड़ी रबी फसलें चौपट हो जाने से क्षेत्र के किसानों की कमर टूट गई हैं। नुकसानग्रस्त किसानों को प्रति हेक्टेयर 25 हजार रुपए मुआवजा देने की मांग भाजपा के पूर्व विधायक डी.मल्लिकार्जुन रेड्डी ने राज्य सरकार से की। इस संदर्भ में एक शिष्टमंडल के साथ रामटेक के तहसीलदार बालासाहेब मस्के के मार्फत शासन-प्रशासन को निवेदन सौंपा गया। निवेदन में बताया कि, बेमौसम बारिश और ओलावृृृृृष्टि से तुअर, गेहूं, चना, कपास, सब्जियां और फलबाग आदि फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। राजस्व, पंचायत समिति और कृृृृृषि विभाग द्वारा पंचनामा किया गया। कुछ क्षेत्र का शीघ्र पंचनामा कर इसकी रिपोर्ट शासन- प्रशासन को भेजने तथा मंत्रिमंडल में निर्णय लेकर किसानों को शीघ्र 25 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर मुआवजा देने की मांग की गई।

देवलापारवासियों को मिले पट्टे

देवलापार के नागरिक, व्यापारी 30-35 वर्षों से यहां बसे हैं। व्यापारी व्यापार कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें सेना विभाग कामठी द्वारा बार- बार संबंधित जमीन मिल्ट्री कॅम्प की होने की जानकारी देते हुए नोटिस दिया जा रहा है। इससे देवलापार के नागरिक व व्यापारियों में हड़कंप मचा हैं।  तहसीलदार को निवेदन देकर मांग की है कि 100 साल पहले का नक्शा देखकर राजस्व विभाग इस भूमि का सर्वेक्षण करे और इन लोगों को जमीन के पट्टे वितरित किए जाए। निवेदन सौंपते समय रामटेक नप के नगराध्यक्ष दिलीप देशमुख, बालचंद बादुले, विवेक तोतडे, अलोक मानकर, रामानंद अडामे, राजेश जयस्वाल, रजत गजभिये,  भाजपा शहर महिला आघाड़ी अध्यक्ष ज्योति कोल्हापरे, पार्षद लता कामले, अनिता टेटवार, चंद्रशेखर माकड़े, रामेश्वर वांढरे, किशोर रहांगडाले, वसंता कोकाटे, तिमाजी मेंघरे, तुलसीराम कोठेकर, भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता सहित क्षेत्र के किसान उपस्थित थे।