दैनिक भास्कर हिंदी: गीले कचरे से निर्मित खाद का पौधारोपण में होगा इस्तेमाल, जांच रिपोर्ट के बाद शुरू होगी बिक्री

June 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, गोंदिया। शहर में निकलने वाले गीले कचरे से नप द्वारा खाद निर्मित किया जा रहा है। जिसका उपयोग पौधारोपण के दौरान नप द्वारा किया जाएगा। साथ ही निर्मित खाद की प्रयोगशाला जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद बिक्री शुरू की जाएगी। प्रशासन को अब जांच रिपोर्ट आने का इंतजार है।

गौरतलब है कि गोंदिया शहर से प्रतिदिन निकलने वाले गीले कचरे से खाद निर्माण नप द्वारा पांच स्थानों पर किया जा रहा है। जिसके लिए नप कार्यालय, सुभाष उद्यान, मालवीय स्कूल, गणेशनगर स्कूल व मराठी स्कूल, रेलवे कालोनी में प्रकल्प शुरू किया गया था। प्रकल्प शुरू होने के पश्चात बड़े पैमाने पर खाद का निर्माण नप द्वारा शुरू किया गया है। उपरोक्त प्रकल्प से निर्मित खाद का उपयोग नप द्वारा 1 से 31 जुलाई तक किए जा रहा है।

पौधारोपण अभियान में नप क्षेत्र अंतर्गत लगाए जाने वाले 12 हजार पौधों के  रोपण के दौरान उपरोक्त खाद का इस्तेमाल किया जाएगा। विशेष यह है कि नप द्वारा निर्मित की जानेवाली यह खाद पूर्ण रूप से जैविक खाद है। इसके अलावा निर्मित खाद को जांच के लिए अमरावती की शासकीय खाद्य नियंत्रण प्रयोगशाला व नागपुर की एक निजी प्रयोगशाला में भेजा गया है। जिसकी जल्द ही जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के पश्चात नप द्वारा खाद की बिक्री शुरू की जाएगी। जिसमें प्रयोगशाला के प्राप्त गुणवत्ता रिपोर्ट के आधार पर खाद के दाम तय करेंगे।

विशेष यह है कि शहर से प्रतिदिन निकलने वाले गीले कचरे की डम्पिंग की समस्या खत्म होने के साथ ही खाद का निर्माण किया जा रहा है। जिससे नप को निर्मित खाद से अतिरिक्त आमदनी भी प्राप्त होगी। जिससे शहर की स्वच्छता व्यवस्था में और सुधार करने में काफी सहायक साबित होगा। 

जांच के लिए भेजे प्रयोगशाला
गोंदिया शहर से निकलने वाले गीले कचरे से खाद का निर्माण किया जा रहा है। निर्मित खाद की जांच के लिए शासकीय व निजी प्रयोगशाला में भेजा गया है। जिसकी जांच के पश्चात नप द्वारा बिक्री शुरू की जाएगी। साथ ही शहर में पौधारोपण के दौरान उपरोक्त खाद का इस्तेमाल किया जाएगा। 
चंदन पाटील, मुख्याधिकारी, नप गोंदिया