दैनिक भास्कर हिंदी: वसूली के लिए बढ़ी नक्सली गतिविधि, मंसूबों को विफल कर रही पुलिस

March 9th, 2021



डिजिटल डेस्क बालाघाट।  ग्रामीणों को बरगलाकर जंगलों में अपनी पैठ जमाने और विकास कार्यांे में बाधा पहुंचाने के नक्सलियों के मंसूबे बालाघाट पुलिस की सतर्कता से लगातार विफल हो रहे हैं। वर्ष 2019 से मार्च 2021 तक जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में नक्सली गतिविधियां बढ़ी हैं, लेकिन पुलिस की लाल आतंक पर चोट उतनी ही गहरी है। दो साल में पुलिस और नक्सली का कई बार आमना-सामना हुआ है लेकिन हर बार नक्सलियों को मुंह की खानी पड़ी है। फिर चाहे वह नक्सली अशोक उर्फ मंगेश, महिला नक्सली नंदे, शोभा, सावित्री का एनकाउंटर हो या फिर 12 लाख के इनामी नक्सली बादल मरकाम और श्यामलाल उर्फ मोतीराम की गिरफ्तारी। पुलिस का कहना है कि जिले में नक्सली गतिविधियां बढ़ी हैं। जंगल क्षेत्र में चल रहे निर्माण कार्यांे को बाधित करने, तेंदूपत्ता, बांस कटाई से जुड़े ठेकेदारों से वसूली करने के मकसद से बढ़ी हैं। इसके अलावा अपने साथी नक्सलियों के एनकाउंटर से भी वो बौखलाए हुए हैं, इसलिए वे ग्रामीणों को बरगलाकर उन्हें अपना माध्यम बनाने के साथ मीटिंग, पर्चे फेंकने जैसी गतिविधियां भी कर रहे हैं।
टाडा दलम से 23 साल से जुड़ा है नक्सली श्यामलाल-
सोमवार, 8 मार्च 2021 को लांजी अंतर्गत देवरबेली चौकी के ग्राम मालकुआ के जंगलों में पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई फाइरिंग के बाद गिरफ्तार नक्सली श्यामलाल उर्फ मोतीराम सनकु जांगधुर्वे उम्र-55 से पुलिस और हॉकफोर्स टीम की पूछताछ जारी है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने बताया कि नक्सली श्यामलाल को पुलिस रिमांड में लेकर पूछताछ की जा रही है। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस और हॉकफोर्स की चार टीम उक्त इलाके में लगातार सर्चिंग कर रही है, जहां सोमवार को फाइरिंग हुई थी। सर्चिंग में डॉग स्क्वॉड की भी मदद ली जा रही है। हालांकि, अभी टीम को कुछ अहम सुराग नहीं मिले हैं। नक्सली श्यामलाल गोंडी और मराठी भाषा ही जानता है इसलिए छत्तीसगढ़ में आत्मसमर्पण कर चुके दो नक्सलियों से उसकी भाषा समझने में मदद ली जा रही है।   
जिले के जंगल क्षेत्रों को बखूबी जानता है नक्सली-
एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में यह सामने आया है कि श्यामलाल उर्फ मोतीराम टाडा दलम में लगभग 23 साल से जुड़ा हुआ है। वह बालाघाट के जंगल क्षेत्रों को बखूबी जानता है। छत्तीसगढ़ के जंगल क्षेत्रों से बालाघाट क्षेत्र में आने वाले नक्सलियों को श्यामलाल काफी मदद पहुंचाता आया है। उसे यहां के रूट, गांव और जंगलों के बोर में जानकारी है इसलिए छत्तीसगढ़ के नक्सलियों को इसकी जानकारी देता है। श्यामलाल नक्सली मूवमेंट में सक्रिय होने के साथ उसे हथियारों की रिपेयरिंग के बारे में पूरी जानकारी है। वह ग्रुप के अन्य नक्सलियों के हथियारों की रिपेयरिंग का काम करता है।
ट्रक-ट्रैक्टर जलाने वाली घटना में शामिल था श्यामलाल-
एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि नक्सली श्यामलाल 31 जनवरी को लांजी क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा सड़क निर्माण में लगे वाहनों को जलाने की घटना में शामिल था। उसने पूछताछ में बताया है कि नक्सली ठेकेदारों को डरा-धमकाकर वसूली कर रहे हैं। इस घटना में शामिल अन्य नक्सलियों के बारे में उससे पूछताछ की जा रही है।
एक मुठभेड़ में हॉकफोर्स जवान हुआ था घायल-
एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि 15 मई 2020 को गोदरी में हुई मुठभेड़ में हॉकफोर्स के एक जवान के गर्दन के पास गोली लगी थी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इसके अलावा अब तक पुलिस या हॉकफोर्स जवान के घायल या शहीद होने की घटना नहीं आई है।  
दो सालों में नक्सलियों को हर मार्चे पर मिली पटखनी-
19 मार्च 2019: मप्र और छग की सीमा पर राजनांदगांव के भावे जंगल में हुई मुठभेड़ में बालाघाट के पालागोंदी गांव निवासी महिला नक्सली जमुना मारी गई थी। ये ऑपरेशन राजनांदगांव और बालाघाट पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था।
09 जुलाई 2019 लांजी थाना क्षेत्र के ग्राम नेवारवाही के पुजारीटोला में रात 11 बजे पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में दो नक्सली ढेर हुए थे। जबकि 8-10 नक्सली फरार हो गए थे। मारे गए नक्सली अशोक उर्फ मंगेश उम्र 21 साल और महिला नक्सली नंदे उम्र-19 साल पर 14-14 लाख का इनाम था।
17 सितंबर 2020- बालाघाट पुलिस और हॉकफोर्स के जवानों के सर्च ऑपरेशन के बाद मलाजखंड थाना इलाके के बांदाटोला के जंगल से विस्तार दलम के कमांडर नक्सली बादल मरकाम का गिरफ्तार किया था। नक्सली बादल पर मप्र और छग में कई मामले दर्ज हैं।
11 दिसंबर 2020-किरनापुर थाना के किन्ही से लगे बोरवन और सिरका के जंगल में रातभर चली मुठभेड़ में महिला नक्सली शोभा में मारी गई थी। वहीं, 12 दिसंबर की अलसुबह फाइरिंग में दूसरी महिला नक्सली सावित्री भी ढेर हुई थी। दोनों नक्सली 15 सालों से नक्सल दलम में सक्रिय थी।
31 जनवरी 2021-लांजी में देवरबेली और मालकुआ के बीच सड़क निर्माण में लगे एक ट्रक और दो ट्रैक्टरों को नक्सलियों ने जला दिया था। इसमें 10 से 15 नक्सली शामिल थे। सोमवार को धराए नक्सली श्यामलाल भी इस घटना में शामिल थी, जिससे इस घटना से जुड़े बिंदुओं पर भी पूछताछ की जा रही है।

खबरें और भी हैं...