प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा जल्द दूर होगी बेरोजगारी और गरीबी: जबलपुर के मटर को मिलेगी अंतरराष्ट्रीय पहचान-कृषि मंत्री

November 6th, 2021

डिजिटल डेस्क जबलपुर। जबलपुर के मटर की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग हो और इसका लाभ यहाँ के स्थानीय किसानों को मिले साथ ही कृषि को लाभ का धंधा बनाया जाए इसके लिए प्रदेश सरकार कार्य कर रही है और इस हेतु एक जिला- एक उत्पाद की योजना शासन ने लागू की है यह बात मप्र के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने जबलपुर प्रवास के दौरान पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही।
कृषि मंत्री श्री पटेल ने बताया कि जबलपुर में हरियाणा के कृषि मंत्री श्री जेपी दलाल का यहाँ की कृषि उत्पादन को देखने के उद्देश्य से आगमन हुआ है इसी तारतम्य में जबलपुर आना हुआ है।
कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में हमने प्रदेश में एक जिला -एक उत्पाद की योजना लागू की जिससे एक ओर उस जिले के उत्पाद  को देश और दुनिया मे पहचान मिलेगी वही दूसरी ओर किसान जो एमएसपी की बात करता था अब एमआरपी पर अपना उत्पाद बेचेगा साथ ही उस उत्पाद के लिए गांव गांव में प्रोसेसिंग यूनिट लगाई जाएगी जिससे किसान स्वयं की फसल उगाएगा, स्वयं प्रोसेसिंग करेगा और उसकी ब्रांडिंग सरकार करेगी और वह देश विदेश में अपना उत्पाद बेच सकेगा।
उन्होंने कहा हमारे प्रदेश का उत्पादन बहुत अच्छा है और जबलपुर में भी किसान अच्छा उत्पादन करते है परन्तु देखने मे आ रहा है कि अधिक उत्पादन के चक्कर मे हम हमारी जमीन की गुणवत्ता कम कर रहे है और अत्यधिक उर्वरको और रासायनिक खाद का इस्तेमाल से जमीन के साथ साथ शरीर का भी नुकसान हो रहा है इसीलिए हम जैविक खेती को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहे है और इसके लिए शासन स्तर पर योजना भी बनाई जा रही है साथ ही इसके लिए किसानों को भी प्रशिक्षण देने का कार्य सरकार द्वारा किया जाएगा जिससे किसान के मन में जैविक खेती को लेकर जो भी भ्रांतियां है वह दूर हो सके साथ ही हमारे जो आदिवासी बाहुल्य जिले है जिनमे मंडला, डिंडोरी, शहडोल, छिंदवाड़ा, झाबुआ, अनूपपुर आदि है उसकी मिट्टी बाय डिफाल्ट जैविक है किंतु उनका प्रमाणीकरण नही होने से किसानों को फायदा नही मिलता है और इस हेतु हमने तय किया है कि हम इसका जैविक प्रमाणीकरण करेंगे जिसके बाद वहाँ के उत्पाद की ब्रांडिंग सरकार के द्वारा करने के बाद उसे बेचा जा सकेगा जिसका सीधा लाभ किसानो को मिलेगा।
इसी के साथ हमने तय किया है कि हर जिले में एक फार्म में हम सुदर्शन वाटिका बनाएंगे जिसमे जैविक कृषि पर आधारित उत्पाद किया जाएगा और इसे क्षेत्र के किसानो को दिखाया जाएगा जिससे जैविक खेती की ओर किसान अग्रसर हो सके।
श्री पटेल ने कहा कांग्रेस ने महात्मा गांधी के नाम पर 60 वर्षो तक शासन किया किन्तु गाँधीवादी द्रष्टिकोण हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपनाया और जिस तरह गांधी जी का कहना था कि भारत की आत्मा गांवो में बसती है उसी तरह मोदी जी ने भी गांव और ग्रामीणों के विकास हेतु योजनाओ को लागू किया और देश में प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना लागू की है जिसमें गांव हर गांव में लोगो को अब अपनी प्लाट के कागजात मिलेंगे और इसी योजना के अंतर्गत हमारे देश का पहला जिला हमारे प्रदेश का हरदा जिला है जिसमे शत प्रतिशत मालिकाना हक के दस्तावेज दिए है यहाँ 402 गांवो के 25 हजार लोगों को उनके प्लाट या जमीन के कागजात दिए गये और अब इसी योजना से प्रदेश के सभी गांवों में उन लोगो को जमीन के कागजात दिए जायेंगे जिनके पास अभी मालिकाना हक के कागज नही थे, इससे उनकी जमीन के दाम भी बढ़ेंगे और उससे उन्हें ऋण आदि की सुविधा भी मिलेगी।
श्री पटेल ने कहा आदि शंकराचार्य जी ने चारों दिशाओं को एक सूत्र में जोड़ते हुए जिस एक भारत श्रेष्ठ भारत की कल्पना की थी उसे साकार करने का संकल्प लेकर हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने विगत दिवस केदारनाथ धाम में विकास कार्यो हेतु बड़ी परियोजनाओं की शुरूआत की है इस कार्यक्रम के माध्यम से  देशभर के सभी महादेव मंदिरो में हमारे जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं द्वारा पूजन अर्चन किया गया यह देश की संस्कृति को दर्शाता है। इस दौरान विधायक सुशील तिवारी इंदु, जिले के प्रवक्ता रविन्द्र पचौरी, मीडिया प्रभारी श्रीकान्त साहू उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...