दैनिक भास्कर हिंदी: बालाघाट के सीमावर्ती क्षेत्र में टिड्डी दल का हमला - किसानों ने की खदेडऩे की कोशिश

May 28th, 2020

डिजिटल डेस्क बालाघाट । देश भर में कृषि को नुकसान पहुंचाने वाले टिड्डी दल ने आज प्रात: महाराष्ट्र के सीमावर्ती ग्राम चिचोली होते हुए जिले में प्रवेश किया। 9.15 बजे के आसपास कृषि विभाग के दल ने महाराष्ट्र के तुमसर से जिले की सीमा में प्रवेश करते देखा। प्रशासन और कृषि विभाग ने इस दौरान किसानो को सुरक्षात्मक तरीको की जानकारी देते हुए इस दौरान अलर्ट किया। शाम होते-होते लाखों की संख्या में टिड्डीयों का दल चिचोली से फुलपूर, कटोरी, भंडारबोड़ी मुरझड़ होते हुए जंगल की तरफ मुड़ गया। कृषि वैज्ञानिको के अनुमान के अनुसार टिड्डी दल कल सुबह तक चिखलाबांध, अनसेरा, होते हुए कटंगी क्षेत्र तक पहुंचेगा। 
कटंगी क्षेत्र में अलर्ट, खैरलांजी के 15 से अधिक गांवो में फसलों को नुकसान 
जिले के खैरलांजी क्षेत्र के 15 से अधिक गांवो में फसलो को नुकसान पहुंचाने के बाद महाराष्ट्र की तरफ से जिले में प्रवेश किये टिड्डी दल ने आज खैरलांजी क्षेत्र के 15 से अधिक गांवो में फसलो को क्षति पहुंचाई हैं। टिड्डी दल के हमले को बे-असर करने के लिये कृषि विभाग के साथ-साथ ग्रामीणों द्वारा भी प्रयास किये गये लेकिन इसके बाद भी किसानों की खेतो में खड़ी फसल को आंशिक क्षति हुई है। 
धान की कटाई हो जाने से कम नुकसान की संभावना 
जिले में धान की कटाई का कार्य लगभग पूर्ण हो जाने के कारण जिले में टिड्डी दल के हमले से नुकसान की संभावना कम है। हालाकि संबंधित गांवो में कुछ किसानों की कटाई होना बाकी है साथ ही कुछ किसानो द्वारा अपने खेतो में सब्जी भी लगाई गई है। जिसके कारण इन फसलो को नुकसान हुआ है जिसका आंकलन कृषि विभाग द्वारा किया जायेगा।
टेंकर से दवा का छिड़काव, नगाड़े बजाकर खदेडऩे की कोशिश 
जिले में टिड्डी दल के प्रवेश की संभावनाओ को देखते हुए कृषि विभाग को जिला प्रशासन द्वारा अलर्ट कर दिया गया था। इस दौरान कृषि महकमे ने स्थानीय ग्रामीणों के साथ मिल कर वाटर टेंकर और फायर बिग्रेड वाहनो की मदद से टिड्डी दल पर दवा का छिड़काव किया। साथ ही ग्रामीणों ने भी नगाड़े बजाकर पारंपरिक तरिके से टिड्डीयों को खदेडऩे का प्रयास किया। लेकिन टिड्डी दल के प्रवेश से जिले के किसानों की चिंता बढ़ गई है। 
इनका कहना है... 
जिले के खैरलांजी क्षेत्र में टिड्डी दल ने महाराष्ट्र से प्रवेश किया है। हमारे द्वारा सभी तरह से सुरक्षात्मक उपाय जिसमें मुख्यता: दवा का छिड़काव किया गया है। साथ ही किसानो को बचाव के तरिके बताये गये है। टिड्डी दल के कल सुबह तक कटंगी क्षेत्र में प्रवेश की संभावना है जिसको लेकर भी सुरक्षात्मक उपाय किये जा रहे है। साथ ही किसानो की उपज को हुई क्षति का भी आंकलन किया जा रहा है।
सी.आर. गौर, उपसंचालक कृषि