अनूपपुर जिले में मानव दुव्र्यापार का अंतरराज्यीय गिरोह पकड़ाया : ढाई लाख में किया था नाबालिग का सौदा, पांच गिरफ्तार

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क अनूपपुर। जिले में मानव दुव्र्यापार (ह्यूमन ट्रैफिकिंग) का अंतरराज्यीय गिरोह पकड़ाया है। आरोपियों ने छत्तीसगढ़ की एक 14 वर्षीय नाबालिग का ढाई लाख रुपए में सौदा किया गया। वे उसे लेकर राजस्थान के झुंझनू जाने वाले थे। पसला से पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि पांच अन्य की तलाश की जा रही है। आरोपियों के विरुद्ध धारा 363, 366ए, 370 भादवि का प्ररकण पंजीबद्ध किया गया है। 10 अक्टूबर को ग्राम पसला से मुखबिर ने पुलिस अधीक्षक को इस संबंध में सूचना दी थी। पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल ने कोतवाली पुलिस को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। पुलिस की विशेष टीम ने कैलाश चन्द्र सैनी, नौरुनलाल, राजेन्द्र सैनी निवासी ग्राम बबई झुंझनू राजस्थान एवं विष्णु करण निवासी ग्राम इन्दगढ़ जिला दतिया को हिरासत में लेते हुए पूछताछ की। पूछताछ में पता चला कि दतिया निवासी मूलचन्द्र के माध्यम से पीडि़ता के पिता सतीश सारथी निवासी समोली जिला सूरजपुर छग के द्वारा शादी के नाम पर 2.5 लाख रुपये में सौदा किया गया था। इसमें ग्राम समौली जिला सूरजपुर का एक एजेंट भी शामिल है। जिसके माध्यम से पैसों का लेन-देन किया गया था। उसकी तलाश पुलिस के द्वारा की जा रही है।
शादी का प्रलोभन देकर करते हैं सौदा
प्रकरण में 10 आरोपी बनाए गए हैं। इनमें से 5 आरोपियों कैलाश सैनी, नौरुल लाल, राजेन्द्र सैनी निवासी सिंघली, वाहन का ड्राइवर विष्णु करण तथा पीडि़ता के पिता सतीश सारथी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों के पास से सौदेबाजी के 98 हजार रुपए भी जब्त किए गए हैं। बताया जा रहा है कि यह अंतरराज्यीय गिरोह है जो शादी का प्रलोभन देकर लड़कियों का सौदा करता है। आरोपियों के तार छत्तीसगढ़, राजस्थान एवं प्रदेश के ग्वालियर, दतिया से जिले जुड़े हंै। पुलिस अधीक्षक द्वारा शेष 5 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम गठित की है। फरार आरोपियों पर 10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया है।

खबरें और भी हैं...