comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

ज्योतिरादित्य सिंधिया को जान से मारने की धमकी, BJP विधायक के बेटे पर FIR

September 04th, 2018 08:18 IST

डिजिटल डेस्क, दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह जिले की हटा विधानसभा क्षेत्र की भाजपा विधायक उमादेवी खटीक के पुत्र प्रिंसदीप खटीक ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को जान से मारने की धमकी दी है। प्रिंस के द्वारा फेसबुक एवं सोशल मीडिया पर धमकी भरी पोस्ट के बाद कांग्रेस जनों ने पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल को एव हटा थाने पहुंचकर आवेदन दिया और आरोपी प्रिंसदीप खटीक के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद धमकी देने वाले प्रिंसदीप खटीक पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि प्रदीप लालचंद खटीक नाम से संचालित कर रहे विधायक उमादेवी खटीक के पुत्र प्रिंस ने फेसबुक पर लिखा कि - "सुन ज्योतिरादित्य तेरी रगों में जीवाजी राव का खून है, जिसने बुंदेलखंड की बेटी झांसी की रानी का खून किया था अगर उप काशी हटा में प्रवेश कर इस धरती को अपवित्र करने की कोशिश की तो गोली मार दूंगा। लूहारी में ही या तो मेरी मौत होगी या तेरी।"इस विवादित पोस्ट के उपरांत कांग्रेसियों द्वारा पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल को जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय टंडन के नेतृव में तथा हटा में भी आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की।

विधायक के बेटे पर मामला दर्ज

दमोह हटा विधायक उमा देवी खटीक के पुत्र प्रिंसदीप खटीक पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। धारा 294,504,506 सेक्शन ए के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। आरोपी प्रिंस फरार बताया जा रहा है।


उल्लेखनीय है कि आगामी 5 सितंबर को मध्य प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का हटा प्रवास हो रहा है। इसके पूर्व इस प्रकार की विवादित पोस्ट को लेकर कांग्रेसजनों में आक्रोश व्याप्त है। इस संबध में नगर पालिका परिषद हटा के उपाध्यक्ष पंडित बृजेश दुबे ने कहा है कि यदि पुलिस कार्रवाई नहीं करती है तो हम लोग धरना प्रदर्शन कर आंदोलन करेंगे।

वहीं हटा की भाजपा विधायक उमादेवी खटीक का कहना है कि  मेरे बेटे द्वारा जो पोस्ट डाली है उसे मैंने भी पढ़ा है वह गलत है क्योंकि बेटा नादान है। मैं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का हटा आने पर स्वागत करती हूं वह अवश्य आएं और इस पोस्ट के लिए माफी मांगती हूं। वहीं पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल का कहना है कि कांग्रेस जनों द्वारा इस पोस्ट के विरोध में शिकायत दर्ज कराई है जिसकी जांच कराकर दोषी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

कमेंट करें
SQloN
कमेंट पढ़े
Atul solanki September 10th, 2018 20:18 IST

Jatiya sindhiya ko c.m.banana chahiye

Abhishek September 04th, 2018 07:02 IST

Sindhiya ji agr aap ek sabd v bolenge toh sc /st act k taht jail jana padega

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।