समा पॉयलट प्रोजेक्ट : ई-मीडिएशन: पुलिस ने अब तक 482 प्रकरण  में ऑनलाइन मध्यस्थता करके कराया समाधान 

September 14th, 2021

 डिजिटल डेस्क जबलपुर । जबलपुर पुलिस द्वारा जिले के 33 थानों  में संचालित ऊर्जा महिला हेल्प डेस्क के माध्यम से  समा पॉयलट प्रोजेक्ट [ई-मीडिएशन] के सहयोग से 482 प्रकरण  में ऑनलाइन कराई मध्यस्थता करके अब तक समाधान कराया जा चुका है । इस संबंध में पुलिस अधीक्षक द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार माननीय मुख्य न्यायधीश श्री मोहम्मद रफीक, मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर, संरक्षक म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर, के द्वारा 10/07/2021 को शुभारंभ किये गये पायलट प्रोजेक्ट समा में पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा के कुशल नेतृत्व में आज तक जिले के कुल 1901 प्रकरण जिनमें पारिवारिक विवाद, छोटे मोटे झगडे, पडोसियों के झगडे, मकान मालिक एवं किरायेदार, संबंधित सामाजिक मामूली झगडों एवं व्यापार से संबंधित विवाद, तनावपूर्ण एवं रिश्तों से खटास से उत्पन्न होने वाले मामलों को इस प्रोजेक्ट के माध्यम से जिले के 33 थानों मे संचालित ऊर्जा महिला हेल्प डेस्क के माध्यम से ऑनलाईन मध्यस्थता के लिये भेजा गया, जिसमें 218 पारिवारिक विवाद, 78 पड़ोसियों से संबंधित विवाद तथा 186 ससुराल पक्ष की प्रताडऩा से संबंधित विवाद के प्रकरणों सहित आज दिनांक 14/09/2021 तक लगभग 482 प्रकरणों में समझौता की प्रकिया से समाधान किया गया। यह संपूर्ण प्रक्रिया अत्यंत गोपनीय एवं विधिक सेवा प्राधिकरण के अनुभवी मीडिएटर से कराई जाती है। समा के तकनीकी सहयोग से मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण इस प्रोजेक्ट का संचालन कर रहा है जिसमें उर्जा डेस्क के मध्यस्थता वाले  प्रकरण को 07 दिवस में ऑनलाईन मध्यस्थता से सुलझाया जाता है। दोनो पक्षकारों के बीच सौहाद्र्रपूर्ण वातावरण स्थापित कर घर में रहते हुये फोन के माध्यम से उनके प्रकरणों का त्वरित निराकरण किया जाता है। यह प्रकिया सुरक्षित कुशल एवं सम्पर्क मुक्त है। जिले के ऊर्जा डेस्क प्रभारी थाने में आने वाली समाधान योग्य शिकायतों को मध्यप्रदेश कानूनी सेवा के संरक्षण में ऑनलाइन मध्यस्थता के समा पोर्टल में भेजते हैं, जिसका समा टीम द्वारा एंड टू एंड मैनेजमेंट किया जाता है। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य तकनीकी भागीदारी से सरल, सहज, एवं त्वरित न्याय प्रदान करना है। यह योजना वर्तमान में मध्य प्रदेश के प्रमुख तीन शहर ग्वालियर, भोपाल एवं जबलपुर में ऊर्जा महिला हेल्प डेस्क के साथ संयुक्त रूप से संचालित की गई है।
 

खबरें और भी हैं...