दैनिक भास्कर हिंदी: बैगा ग्राम डेबरा में आज तक नहीं पहुंच पाई बिजली, वन क्षेत्र में होने के कारण बाधा

August 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, अनूपपुर। विद्युत विहीन ग्रामों में विद्युत सुविधा उपलब्ध कराए जाने के लिए शासन द्वारा सौभाग्य योजना प्रारंभ की गई है। वहीं कोतमा जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत  थानगांव में शामिल ग्राम बैगा डेबरा के ग्रामीणों को इस योजना के तहत भी अभी तक विद्युत सुविधा नहीं मिल पाई। जिसका कारण विद्युत लाइन विस्तार में बाधा बन रही वन भूमि को  बताया जा रहा है। वन भूमि क्षेत्र में इस ग्राम होने के कारण आज तक यहां के ग्रामीणों को विद्युत सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाई है। जिससे आदिवासी बाहुल्य ग्राम के निवासी परेशान हैं।

कोतमा जनपद के ग्राम पंचायत थानगांव के बैगा डेबरा में बैगा, भरिया तथा गोंड़ जाति के लगभग 200 से अधिक लोग निवासरत हैं। थानगांव से 8 किलोमीटर दूरी पर घने जंगलों के बीच स्थित इस ग्राम में मूलभूत सुविधाएं आज भी नहीं हैं। जिनमें सबसे प्रमुख समस्या बिजली की है। जिसके उपलब्ध न होने के कारण ग्रामीणों को अंधेरे में रात बितानी पड़ती है।  पूर्व में यहां पर कई बार ग्रामीण जनप्रतिनिधियों के द्वारा प्रशासन से विद्युत सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने की मांग की गई थी, लेकिन तब से लेकर अब तक यहां यह सुविधा प्रदान नहीं की गई। सौभाग्य योजना के प्रारंभ होने से ग्रामीणों को यह उम्मीद थी कि अब उन्हें विद्युत सुविधा के लिए ज्यादा परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा, लेकिन वन भूमि क्षेत्र में स्थित होने के कारण अब भी यह समस्या दूर नहीं हो पा रही है।  

परेशानियों के बीच 200 आदिवासी परिवार
बैगा डेबरा में बिजली सुविधा उपलब्ध न होने से आज भी यहां के ग्रामीण आदिम युग मे अपना जीवन गुजार रहे हैं। जिसकों दूर करने के लिए अब तक कोई प्रयास प्रशासनिक स्तर पर नहीं किया गया है और इन मांगों को लेकर ग्राम पंचायतवासियों ने कलेक्टर से कार्यवाही की मांग की है।

सौर ऊर्जा से रोशन करने  प्रस्ताव
जंगलों से घिरे होने के कारण जहां विद्युत विभाग को वन विभाग से अनापत्ति नहीं मिल पाने के कारण अब तक यहां विद्युत सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाई। वहीं जंगल तथा  सूनसान क्षेत्र होने के कारण विद्युत लाइन विस्तार के बाद केबिल चोरी होने का भय भी विद्युत विभाग को इस क्षेत्र में बना हुआ था और इन्हीं समस्याओं को दूर करने के लिए विभाग द्वारा यहां सौर ऊर्जा संयंत्र लगाते हुए विद्युत आपूर्ति दिए जाने की योजना बनाई गई है जिसका प्रस्ताव विभाग द्वारा वरिष्ठ कार्यालयों को भेजा गया है।

इनका कहना है
वन भूमि क्षेत्र से लगा होने के कारण विद्युत लाइन विस्तार में होने वाली समस्या को देखते हुए सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करते हुए यहां विद्युत सुविधा कराने का प्रस्ताव भेजा गया है। जिस पर आगामी दो-तीन महीनों में कार्य प्रारंभ किया जाएगा।
सुशील यादव, सहायक अभियंता कोतमा

 

खबरें और भी हैं...