दैनिक भास्कर हिंदी: पति-पत्नी की निर्मम हत्या, चरित्र संदेह बताया जा रहा कारण, जांच में जुटी पुलिस

April 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, अनूपपुर। पहले पत्नी की हत्या और उसके कुछ घंटों बाद पति की बेरहमी से हत्या का मामला प्रकाश में आया है। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों का पंचनामा कर पोस्ट मार्टम के लिए भेजा। हत्या का कारण चरित्र संदेह बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस तमाम बिन्दुओं पर जांच कर रही है।

क्षेत्र में सनसनी व्याप्त-
इस संबंध में पुलिस ने बताया कि 18 अप्रैल की सुबह जैतहरी थानान्तर्गत संचालित पुलिस सहायता केन्द्र वेंकटनगर में पोड़ी के ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी कि गांव में दोहरी हत्या हो गई है। बैगा दंपति को अज्ञात हत्यारे ने मौत के घाट उतार दिया है। दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलने से पुलिस के भी हाथ-पैर फूल गए। आनन-फानन में घटना स्थल पर जैतहरी थाना प्रभारी आरएस शुक्ला, उप निरीक्षक एचएस शुक्ला, आंकाक्षा सिंह, एएसआई वीरेन्द्र तिवारी दलबल के साथ पहुंचे। जहां पत्नी का शव घर से 200 मीटर दूर रास्ते में पाया गया, वहीं पति का शव घर के बरामदे में पाया गया। 52 वर्षीय पत्नी व 55 वर्षीय पति की हत्या हो जाने से गांव में भी सन्नाटा पसर गया।

दोनों के बीच होता था विवाद-
इस संबंध में पुलिस ने बताया कि पत्नी की मौत की वजह पति द्वारा की गई मारपीट को माना जा रहा है, वहीं पति की हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। पड़ोसियों का भी कहना है कि चरित्र संदेह को लेकर पति-पत्नी के बीच अक्सर वाद-विवाद व मारपीट की घटनाएं होती रहती थी।

यह है मामला-
वेंकटनगर पुलिस सहायता केन्द्र अंतर्गत ग्राम पोड़ी के रहने वाले बैगा दंपति जिनमें पत्नी झम्मा बैगा उम्र 55 वर्ष तथा पंदरू उर्फ जयदीप बैगा उम्र 55 वर्ष की हत्या 17 और 18 अप्रैल को कर दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस को प्रारंभिक जांच में पड़ोसियों ने बतलाया कि झम्मा और पंदरू के बीच चरित्र संदेह को लेकर अक्सर विवाद होता रहता था। पंदरू अपनी पत्नी के चरित्र को लेकर मारपीट भी करता था। 17 अप्रैल की देर शाम जब झम्मा घर से लगभग 200 मीटर दूर स्थित हैंडपंप से नहाकर वापस लौट रही थी तभी रास्ते में ही दोनों के बीच विवाद होने लगा। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों के बीच मारपीट भी होने लगी।

वृद्धा ने आवाज से पहचाना-
17 अप्रैल की देर शाम पति-पत्नी के बीच हो रही मारपीट और वाद विवाद को घटना स्थल के समीप ही निवास करने वाली लगभग 90 वर्षीय वृद्धा ने सुना। वृद्धा का कहना है कि  वाद-विवाद के बीच कोई तीसरा व्यक्ति भी दोनों को शांत करा रहा था। वहीं जब विवाद शांत नहीं हुआ तो वह व्यक्ति चला भी गया। जिसके बाद दोनों पति-पत्नी के बीच मारपीट भी हुई। अंधेरा होने के कारण  सिर पर चोट लगने से झम्मा की मौत हो जाने की संभावना भी वृद्धा ने व्यक्त की।

सुबह घर में पति की हत्या-
18 अप्रैल की सुबह पंदरू का शव भी घर के बाहर ऑगन में देखा गया। पंदरू के माथे पर हथियार से प्रहार कर उसकी हत्या कर दी गई। जिस वक्त पंदरू की हत्या की गई  उसके शरीर पर सिर्फ अधोवस्त्र ही था। पुलिस अब पड़ोसियों के बयान और हत्या की सभी संभावित वजहो के आधार पर जांच कर रही है। पड़ोसियों और परिचितों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। फिलहाल पुलिस अब तक किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंची है।  

इकलौता पुत्र वह भी मानसिक दिव्यांग-
मृतक पंदरू व मृतिका झम्मा बैगा से एक मात्र पुत्र कतकू बैगा है। 20 वर्षीय पुत्र भी मानसिक रूप से दिव्यांग है। वह प्राय: बाहर ही घूमता रहता है। मृतक का घर भी बस्ती से दूर एकांत में बना हुआ है। जिस वजह से मृतक के घर कौन आया था इसकी जानकारी नहीं लग पा रही है। एफएसएल की टीम भी मौके पर पहुंचकर घटना के साक्ष्य एकत्र करने के साथ ही शव का पंचनामा बनाकर पीएम के लिए भेजा गया।

इनका कहना है
बैगा दंपति की हत्या अज्ञात आरोपी द्वारा की गई है। अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 302 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है। शीघ्र ही मामले का खुलासा किया जाएगा।
जेएस राजपूत, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर