comScore

चेन बनाकर आधा दर्जन बच्चों ने पार की उफनती नदी, बैराज स्टॉप डेम के तेज बहाव में फंसे थे

August 22nd, 2018 09:21 IST

डिजिटल डेस्क, कटनी। बाढ़ में फंसे बच्चों ने मानव श्रृंखला बनाकर तेज बहाव को भी चुनौती देते हुए एक-दूसरे को सुरक्षित निकल लिया। मामला बरगंवा क्षेत्र के कटनी नदी में नगर निगम के कटाएघाट स्थित बैराज स्टॉप डेम का है। दरअसल मंगलवार सुबह गांव के दस से बारह वर्ष के सात से आठ बच्चे घूमते-घूमते कटाये घाट में पहुंच गए। यहां पर सभी बच्चे स्टॉप डेम की दीवार से बीच नदी की धार में पहुंच गए। उसी समय पानी का बहाव तेज हो गया। नदी का पानी स्टापडेम के ऊपर से बहने लगा। पानी का बहाव देखते हुए बच्चे भी सर्तक हो गए। बगैर साहस गंवाए बच्चों ने इससे निकलने  की योजना बनाई और एक दूसरे का हाथ पकड़ते हुए चैन बनाकर इस मुसीबत को भी पार कर लिया।

जानकारी लगने पर ग्रामीण भी यहां पर पहुंचे। जिन्होंने नगर निगम पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि यहां पर रोजाना ग्रामीणों का आना-जाना होता है। स्टॉप डेम की दीवार से ग्रामीण एक दूसरे की तरफ जाते हैं। इसके बावजूद सुरक्षा के उपाए नहीं किए गए।

तालाब में उतराती मिली महिला की लाश
कुठला थाना क्षेत्र के बिलहरी पुलिस चौकी अंतर्गत करहिया नाले में सोमवार को बही महिला की लाश मंगलवार को तालाब में तैरते मिली। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से शव निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मतवारी निवासी पप्पी कोल सात वर्षीया पुत्री के साथ खेत जा रही थी। महिला की चप्पल रास्ते में पडऩे वाले नाला में गिर गई। चप्पल निकालने के प्रयास में महिला नाले में गिर गई। सुबह महिला का शव लोगों ने तालाब में उतराते देखा और पुलिस को सूचना दी।

ट्यूब की मदद से बाहर निकाला शव
बताया गया है कि महिला के डूबने की सूचना के बाद भी यहां पुलिस के अलावा कोई नहीं पहुंचा। पूरी रात दो सिपाही यहां डटे रहे, लेकिन दूसरे दिन तक राजस्व विभाग की ओर से पटवारी तक नहीं पहुंचा। शव निकालने के लिए भी होमगार्ड के गोताखोर तक नहीं मिले। ग्रामीणों ने  वाहन के ट्यूब में हवा भरकर 20 फिट से अधिक गहरे तालाब में घुसकर किसी तरह शव को बाहर निकाला। बिलहरी चौकी प्रभारी आर.बी.मिश्रा ने बताया कि महिला शव तालाब से निकलवा कर पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

कमेंट करें
OFG9V