दैनिक भास्कर हिंदी: ट्रेन की चपेट में आने से गेटमेन की संदेहास्पद मौत

June 14th, 2018

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। रेंजर कॉलेज और बजरंग घाट मार्ग के बीच स्थित रेलवे गेट में पदस्थ गेटमेन 35 वर्षीय नरेश पिता कमलदास भालेवार की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। घटना में गेटमेन की मौत को लेकर कई तरह की चर्चाएं है, जिससे उसकी मौत पर संदेह पैदा हो गया है। कोई इसे आत्महत्या कह रहा है तो किसी का कहना है कि ट्रेन को झंडी दिखाते समय ट्रेन की रफ्तार की हवा से अनियंत्रित होकर वह ट्रेन के सामने आ गया। बहरहाल घटना के बाद पुलिस ने शव बरामद कर पंचनामा कार्यवाही के बाद शव  परिजनों को सौंप दिया है।

किरनापुर थाना अंतर्गत नेवरगांव निवासी नरेश भालेवार विगत लगभग डेढ़ वर्षो से बालाघाट में रेंजर कॉलेज और बजरंग घाट के बीच रेलवे गेट में पदस्थ था, आज सुबह 6 बजे वह ड्युटी पर गया था। इस दौरान कटंगी से गोंदिया ट्रेन क्रमांक 78802 के आने पर उसने गेट बंद किया। जैसे ही ट्रेन पास आई, वह एकाएक वह ट्रेन की चपेट में आ गए । जिससे उसका शरीर टुकड़ों में कट गया और उसकी मौत हो गई।

इसी तरह गुरूवार को दो और हादसे सामने आए हैं, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। वारासिवनी थाना अंतर्गत रेंगाटोला निवासी 45 वर्षीय सुरेश पिता दयालपुरी गोस्वामी उमरटोला मार्ग पर स्थित जामुन के पेड़ में जामुन तोड़ने चढ़ा था, इस दौरान वह अनबैलेंस होकर गिर गया। नीचे गिरने से उसके सिर पर गंभीर चोटें आईं । उसे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया था। यहां से उसे ईलाज के लिए गोंदिया ले जाया जा रहा था, इस दौरान  रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। जिसके बाद परिजन उसे जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे। जहां अस्पताल चौकी पुलिस ने शव बरामद कर पंचनामा कार्यवाही के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। जबकि दूसरी घटना में लांजी थाना अंतर्गत आवा निवासी 17 वर्षीय माया कुमारी पिता तेजलाल करसालय की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई ।