comScore

शिक्षक निलंबित, चार पर दर्ज होगी एफआईआर - रेेत के अवैध उत्खनन संबंधी वायरल हुए वीडियो मामले में प्रशासन सख्त

शिक्षक निलंबित, चार पर दर्ज होगी एफआईआर - रेेत के अवैध उत्खनन संबंधी वायरल हुए वीडियो मामले में प्रशासन सख्त

डिजिटल डेस्क अनूपपुर । रेत  के अवैध उत्खनन संबंधी हर दूसरे दिन वायरल हो रहे वीडियो को लेकर प्रशासन ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। केवई नदी के चंगेरी घाट में रेत के अवैध उत्खनन मामले को लेकर वायरल हुए वीडियो में दिख रहे शासकीय शिक्षक दीपक तिवारी को निलंबित कर दिया गया है। वहीं दीपक तिवारी सहित दोनों भाजपा नेताओं मनीष गोयनका एवं दीपेश जैन पर एफआईआर दर्ज करने के लिए कोतमा थाना प्रभारी को खनिज विभाग ने पत्र लिख दिया है।
 इसके अलावा एक अन्य वायरल हुए वीडियो में अवैध उत्खनन की बात करने वाले दीपेंद्र सिंह के विरुद्ध भी प्रकरण दर्ज कराने पत्राचार शुरू हो गया है। कलेक्टर चंदमोहन ठाकुर ने बताया कि शासकीय माध्यमिक शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है, वहीं शेष सभी पर एफआईआर दर्ज कराने निर्देशित किया गया है।
अवैध उत्खनन कराने की दे रहे थे चुनौती
 4 अगस्त को वायरल हुए वीडियो में भाजपा आर्थिक प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक मनीष गोयनका, भाजयुमो के पूर्व मंडल अध्यक्ष दीपेश जैन व पैरीचुआ स्कूल में पदस्थ शिक्षक दीपक तिवारी रेत खदान के चौकीदार को धमकाते हुए अवैध उत्खनन कराने की चुनौती देते नजर आए थे। इतना ही नहीं तीनों रेत से भरे ट्रैक्टर को छुड़ाकर भी ले गए थे। यह मामला सामने आने के बाद कलेक्टर के निर्देश पर शिक्षक दीपक तिवारी के खिलाफ विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने जांच कर गुरूवार देर शाम प्रतिवेदन सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को सौंपा था। इसके बाद शिक्षक दीपक तिवारी को निलंबित कर दिया गया। एसी ट्रायबल पीएन चतुर्वेदी ने बताया कि वायरल वीडियो में शासकीय शिक्षक दीपक तिवारी द्वारा अवैध उत्खनन को लेकर कहीं जाने वाली बातें जांच में प्रमाणित पाई गई हैं। इसके बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है।
खनिज विभाग ने एफआईआर के लिए कोतमा थाना प्रभारी को लिखा पत्र
इसी मामले में शुक्रवार को खनिज विभाग ने कोतमा थाना प्रभारी को पत्र लिखते हुए रेत के अवैध उत्खनन को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के आधार पर भाजपा नेता मनीष गोयनका व दीपेश जैन तथा शिक्षक दीपक तिवारी के विरुद्ध प्रशासन के समक्ष चुनौती प्रस्तुत करने व अवैध खनन करने के लिए एफआईआर दर्ज करने को कहा है। 5 अगस्त को वायरल हुए एक अन्य वीडियो में जो दीपेंद्र सिंह अवैध उत्खनन के लिए अधिकारियों को मैनेज करने की बात कह रहे थे, उनके विरुद्ध भी एफ आईआर दर्ज कराने की प्रक्रिया विभाग द्वारा प्रारंभ हो गई है।
भाजपा नेताओं की पत्थर खदान की लीज भी निरस्त होगी
अवैध उत्खनन करने वालों पर नकेल कसने खनिज महकमे द्वारा लीज निरस्त करने की प्रक्रिया भी की जा रही है। सिटी इंटरप्राइजेज की प्रोप्राइटर मनीष गोयनका की धर्मपत्नी हैं, जिनके नाम पर पैरीचुआ व डोगरिया कला में पत्थर की खदानें स्वीकृत हैं, वहीं दीपेंद्र सिंह के पास भी डोगरा टोला में पत्थर खदान स्वीकृत है। वायरल वीडियो में अवैध उत्खनन की बात सामने आने पर खनिज विभाग ने लीज निरस्तीकरण की प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी है।
लगातार वायरल हो रहे वीडियो-ऑडियो
कोतमा क्षेत्र में रेत के अवैध कारोबार को लेकर गुरूवार देर शाम तीसरा वीडियो वायरल हुआ, जिसमेंं निगवानी ग्राम में रेत को लेकर हो रही मारपीट के दृश्य हैं। इसमें पुलिस ने मामला भी दर्ज किया है। शुक्रवार को वायरल हुए ताजे ऑडियो में बिजुरी का ट्रैक्टर चालक बताकर किसी व्यक्तिद्वारा रेत के अवैध उत्खनन की बात कही जा रही है। खनिज अधिकारी ने इन सभी ऑडियो और वीडियो की जांच और कार्रवाई की बात कही है।
 

कमेंट करें
GFrXv