• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The accused were caught red-handed while roaming with the intention of committing the crime in a mat cycle.

चरगवां पुलिस की कार्यवाही: लोडेड देसी पिस्टल खोसकर मोटरसाइकिल में वारदात करने की नियत से घूमते हुए आरोपी रंगे हाथ पकड़े गए

April 30th, 2022

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा जिले मे पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को अवैध हथियार के कारोबार मे लिप्त असामाजिक तत्वों को चिन्हित करते हुये उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु आदेशित किया गया है।
आदेश के परिपालन में अति.पुलिस अधीक्षक शहर (ग्रामीण) श्री शिवेश सिंह बघेल  एवं नगर पुलिस अधीक्षक बरगी सुश्री प्रियंका शुक्ला (भा.पु.से.) के मार्ग दर्शन में थाना चरगवां पुलिस की टीम द्वारा 1 आरोपी को अवैध शस्त्र पिस्टल एवं 2 कारतूस सहित पकड़ा गया है।

थाना प्रभारी चरगवां श्री विनोद पाठक ने बताया कि आज दिनांक 30-4-22 की रात विश्वसनीय मुखविर द्वारा सूचना मिली कि ग्राम गंगई से एक 25 से 30 साल का लड़का हल्के गुलाबी कलर की टीशर्ट एवं आसमानी कलर का जींस पहने एक लाल रंग की गाड़ी से अपनी कमर में लोडेड पिस्टल खोसकर कोई घटना घटित करने के लिए ग्राम डुंगरिया तरफ गया है, सूचना पर डुंगरिया में खदान के पास दबिश दी गई जहां मुखबिर द्वारा बताये हुए हुलिया का युवक लाल रंग की पल्सर मोटरसाइकिल पर दिखा जो पुलिस का वाहन देखकर पल्सर मोटरसाइकिल  से भागने लगा, जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया, नाम पता पूछने पर अपना नाम नीरज उपाध्याय उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम गंगई थाना चरगवां  का रहने वाला बताया। तलाशी लेने पर  कमर में वायें तरफ  पिस्टल खोंसे मिला , पिस्टल की मैग्जीन चैक करने पर 2 कारतूस लोड मिले, आरोपी नीरज उपाध्याय ने उक्त पिस्टल एवं कारतूस के संबंध में पूछताछ पर बताया कि लगभग 01 वर्ष पहले बैतूल में रहकर ढावा में काम करता था वहां ढावा में खाना खाने वाले राजेश चौबे नाम के लड़के से पिस्टल 18000 रूपये तथा 02 कारतूस 500 रूपये खरीदा था , जिसकी तस्दीक की जा रही है। आरोपी नीरज उपाध्याय से एक पिस्टल एंव 2 कारतूस तथा घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल पल्सर क्रमांक एमपी 20 एमपी 2567 एवं एंड्राइड मोबाईल सेमलंग कम्पनी का जप्त करते हुये  आरोपी नीरज उपाध्याय उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम गंगई के विरूद्ध धारा 25(1-एए), 27 आर्म्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

 उल्लेखनीय भूमिका - आरोपी को अवैध शस्त्र के साथ रंगे हाथ पकडने में सहायक उप निरीक्षक मनीष बसेड़िया, आरक्षक कैलाश की सराहनीय भूमिका रही।
 

खबरें और भी हैं...