दैनिक भास्कर हिंदी: सीमाएं सील तो रेलवे ट्रेक पर चलकर बालाघाट पहुचे मजदूर 

March 31st, 2020

डिजिटल डेस्क बालाघाट । शासन के कम्पलीट लॉक डाऊन के आदेश के बाद प्रशासन ने जिले की सभी सीमाओं को सील कर जहां एक ओर जहां आने वाले मजदूरो के सीमाओं पर ही स्वास्थ्य परिक्षण भोजन और रहने के बंदोबस्त किये है। वही इस महामारी के दौरान अपने घर और अपनो के बीच पहुंचने की जद्दोजहद में मजदूर भी वैकल्पिक रास्तों को अपना कर अपने ठिकानो तक पहुंचने की कोशिश में लगे है। छ.ग. के विभिन्न शहरो में रोजी रोटी के लिये गये लगभग सैकड़ा भर से अधिक मजदूर दोपहर 3 बजे के आस-पास रेल पांतो से होकर बालाघाट लौटे। इन मजदूरो ने बताया की वे पिछले 23 तारिख को बिलासपूर  और रायपूर से निकले थे। सारा दिन चलने के बाद जहां रात होती वही किसी रेल्वे स्टेशन में रूक जाया करते थे। जहां कही भूखे तो कही स्थानीय लोगों की मदद से उन्हे खाना मिल जाया करता था। जिसके बाद वे आज किसी तरह बालाघाट पहुंचे है। इन मजदूरों के मुख्यालय पहुंचते ही प्रशासन ने नगर पालिका ले जाकर सभी के स्वास्थ्य परिक्षण उपरांत भोजन और आवास के प्रबंध किये। 
रोके नही रूक रहे मजदूर
एक तरफ जहां प्रशासन सभी मजदूरो के लिये आवास और भोजन के प्रबंध कर रहा है। वही अपने घर और अपनो के बीच पहुंचने के लिये मजदूर रोके नही रूक रहे है। कल सिवनी के लिये बसो से भेजे गये मजदूर वहां के प्रशासन के द्वारा लौटाये जाने के बाद नपा तक तो आये, लेकिन भोजन और स्वास्थ्य परीक्षण के बाद पैदल ही अपने घरो की तरफ चल पड़े थे। आज भी कोई सैकड़ा भर मजदूर जिला मुख्यालय आने के बाद पुन: पैदल ही आगे के गंतव्य के लिये जाते देखे गये।
 

खबरें और भी हैं...