संयुक्त मोर्चा, कर्मचारी संघ के बैनर तले हजारों कर्मचारियों ने नेहरू पार्क में दिया धरना : पुरानी पेंशन बहाली को लेकर मय जन बच्चों के सड़कों पर उतरे कर्मी

March 27th, 2022

डिजिटल डेस्क दमोह।  पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर रविवार को हजारों की संख्या में शिक्षक-शिक्षिकाओं सहित अन्य कर्मचारी मय जन बच्चों के सड़क पर उतर गए। सभी ने रैली निकालते हुए पेंशन को बहाल करने की मांग अपर कलेक्टर को नाथूराम गौड़ को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर की। इस दौरान कर्मचारियों के बच्चों ने अपने मुख्यमंत्री मामा से पेंशन बहाली की मांग को लेकर गुहार लगाई।
संयुक्त मोर्चा, मोर्चा कर्मचारी संघ के बैनर तले हजारों कर्मचारियों ने रविवार को स्थानीय नेहरू पार्क में धरना दिया। इसके बाद उन्होंने पूरे शहर में  रैली निकाली और कलेक्ट्रेट पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। कर्मचारियों का कहना था कि ये कैसा अन्याय है। जहां कर्मचारी पूरे जीवन काल सेवा देता है, उसे बुढ़ापे का सहारा पेंशन से वंचित कर दिया जाता है, वहीं दूसरी ओर एक विधायक, सांसद शपथ लेते ही पेंशन के अधिकारी हो जाते हैं। इतना ही नहीं जितनी बार विधायक, सांसद बनते हैं उतनी पेंशन कुछ प्रतिनिधि तो 5 से 6 पेंशनों का लाभ ले रहे है। पहले जो पेंशन योजना लागू थी, वह कर्मचारियों के हित में थी। लेकिन, षड्यंत्र के तहत उसे बंद कर दिया गया। अब सरकारी नौकरियों में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए उनके बुढ़ापे का सहारा पेंशन बंद कर दी गई है। जिससे उन्हें आने वाले समय में कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। इसलिए वह चाहते हैं कि उनकी पुरानी पेंशन योजना फिर से चालू की जाए।
कर्मचारियों का कहना था कि वे लंबे समय से पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर सरकार से अपील कर रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी नहीं सुन रही। इसलिए उन्होंने आंदोलन शुरू किया है। यदि सरकार उनकी मांग को नहीं मानती है तो वे आने वाले दिनों में और बड़ा प्रदर्शन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

 

खबरें और भी हैं...