comScore

3 हजार किलोमीटर का सफर तय करके बालाघाट पहुंची तिरंगा यात्रा

3 हजार किलोमीटर का सफर तय करके बालाघाट पहुंची तिरंगा यात्रा

डिजिटल डेस्क बालाघाट। अखंड भारत संकल्प और स्वच्छ भारत, स्वस्थ्य भारत के भाव को लेकर बालाघाट से 29 अक्टूबर को निकाली गई तिरंगा यात्रा आज 7 नवंबर को 3 हजार किलोमीटर का सफर तय करके बालाघाट लौटी। जिसका बालाघाट नगर के आंबेडकर चौक में कांग्रेस, भाजपा और विभिन्न संगठनो के लोगो ने अभिनंदन किया। जिसके बाद नगर में यह तिरंगा यात्रा आतिशबाजी और बैंडबाजे के साथ आंबेडकर चौक से प्रारंभ होकर अपने प्रारंभिक स्थल नगर के कान्हा हॉटल में पहुंची, जहां तिरंगा यात्रा का समापन किया गया।
गौरतलब हो कि 29 अक्टूबर को क्षत्रिय मराठा कलार समाज अध्यक्ष राकेश सेवईवार के नेतृत्व में बालाघाट से तिरंगा यात्रा अखंड भारत संकल्प और स्वच्छ भारत, स्वस्थ्य भारत के भाव को लेकर निकाली गई थी। बालाघाट से प्रारंभ हुई 3 हजार किलोमीटर की तिरंगा यात्रा, देश के धार्मिक और पर्यटन स्थल मैहर, वाराणसी, गोरखपुर, लुम्बिनी, काठमांडु, अयोध्या, पोखरा, प्रयारागज (इलाहाबाद), चित्रकुट से होकर पुन: बालाघाट पहुंची। इस यात्रा में शामिल यात्रियों ने सभी धार्मिक और पर्यटन स्थल में सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश दिया। बालाघाट से होकर निकली तिरंगा यात्रा 3 हजार किलोमीटर के सफर में जहां से भी होकर गुजरी, वहां तिरंगा यात्रा का स्थानीय लोगों ने स्वागत किया और तिरंगा यात्रा लेकर निकलें यात्रियों का अभिनंदन किया।
यात्रा की अगुवाही कर रहे राकेश सेवईवार ने बताया कि यात्रा अविस्मरणीय रही और जगह-जगह लोगों ने तिरंगा यात्रा का एकता के भाव से स्वागत किया। उन्होंने बताया कि इस यात्रा के दौरान सभी यात्रियों ने जगह-जगह सफाई अभियान चलाकर सफाई की और देशवासियों को स्वच्छता का संदेश दिया। उन्होंने बताया कि 9 दिवसीय इस यात्रा का बालाघाट आगमन के बाद समापन हो गया है।

कमेंट करें
nExqt