comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

ट्रेक्टर ने आटो को टक्कर मारी ,तीन लोगों की मौत , दुर्घटनाओं में कुल 6 जान गई 

ट्रेक्टर ने आटो को टक्कर मारी ,तीन लोगों की मौत , दुर्घटनाओं में कुल 6 जान गई 

डिजिटल डेस्क अनूपपुर । यहां पिछली रात सवारी से भरी एक आटो को ट्रेक्टर ने ऐंसी टक्कर मारी कि तीन लोगों की मौत हो गई । सड़क हादसों में जिले के अलग-अलग हिस्सों में 5 लोगों की मौत हो गई। वहीं देर रात जिला मुख्यालय में स्थित पालीटेक्निक कालेज में ईव्हीएम की सुरक्षा में तैनात प्रधान आरक्षक का शव चंदास नदी में उतराता मिला। राजेन्द्रग्राम थानान्तर्गत आटो और टे्रक्टर की भिडन्त में चार वर्षीय बालक समेत दो महिलाओं की मौत हो गई। 
दुर्घटना में 3 की मौत
राजेन्द्रग्राम थानान्तर्गत ग्राम बम्हनी के धोपा टोला में 8 अक्टूबर की रात दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के बाद आटो से अपने घर लौट रहे श्रद्धालुओं को लीलाटोला की ओर से आ रहे ट्रेक्टर ने सीधी ठोकर मार दी जिससे आटो में सवार चार वर्षीय लवकेश संत पिता  बलमू संत की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल श्यामकली बाई उम्र्र 35 वर्ष पति बलमू संत तथा समली बाई पति लाल सिंह को इलाज के लिए राजेन्द्रग्राम चिकित्सालय लाया गया जहां दोनों की मौत हो गई। हादसें की वजह अंधे मोड को बतलाया जा रहा है। 
जुलूस देख रहे किशोर को मारी ठोकर
भालूमाड़ा थानान्तर्गत फुनगा चौकी में 8 अक्टूबर की शाम दशहरा जुलूस देख रहे दो किशोर अनिल केवट पिता महेन्द्र केवट उम्र 13 वर्ष तथा संघदेव सिंह पिता पुष्पेन्द्र सिंह उम्र 15 वर्ष को दो पहिया वाहन क्रमांक एमपी 18 एमएम- 0146 के सवार ने सीधी ठोकर मार दी। जिसमें अनिल केवट को गंभीर चोट आई। इलाज के लिए ले जाने के दौरान ही अनिल की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बतलाया कि वाहन सवार नशे की हालत में था,जो ठोकर मारकर वाहन  छोड़कर फरार हो गया। 
एसएफ जवान की मिली लाश
 जिला मुख्यालय स्थित पालीटेक्निक महाविद्यालय में मौजूद ईव्हीएम की सुरक्षा में तैनात 10वीं बटालियन के प्रधान आरक्षक कमलेश सिंह का शव पालीटेक्निक कालेज से 500 मीटर दूर स्थित चंदास नदी में देखा गया। बतलाया जा रहा है कि दुर्गा प्रतिमा देखने के लिए कमलेश सिंह निकला था। शव से ही   शराब की खाली वाटल भी पुलिस को मिली है। अनुमान लगाया जा रहा है कि नशे की हालत में होने के कारण कमलेश सिंह पुल से नीचे गिर गया होगा। कोतवाली पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है। 
समिति अध्यक्ष की डूबने से मौत
 थाना करनपठार अंतर्गत ग्राम तरंग में 8 अक्टूबर को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के लिए शीशघाट तालाब ले जाया गया था। जहां समिति के अध्यक्ष चेतन ङ्क्षसह उम्र 54 वर्ष निर्धारित स्थान पर विसर्जन न कराते हुए अन्यत्र प्रतिमा को ले गए। विसर्जन के पश्चात तालाब में तैरने के लिए उतरा चेतन गहरे पानी में चला गया। चेतन का शव देर शाम ढूढा जा सका। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव परिजनों को सौंप दिया।
 

कमेंट करें
2XEyG
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।