दैनिक भास्कर हिंदी: नाला पार करते समय डूबा आदिवासी

August 17th, 2019

डिजिटल डेस्क,जबलपुर। बरगी थाना क्षेत्र के गुण्डा टोला बालीवाड़ा में दुनाम नाला पार करते समय एक आदिवासी रेवाराम गोंड़ की डूबने से मौत हो गई। रेवाराम उस समय बह गया था जब वह दुनाम नाला पार कर रहा था। बहाव इतना तेज था कि उसकी खोजबीन में पुलिस के साथ गोताखोर भी लगे। बाद में रेवाराम की लाश सौ मीटर दूर जाकर मिली। देवद्वार सालीवाड़ा के रेवाराम के पुत्र अमर लाल के अनुसार नाले में पानी का बहाव काफी तेज था, जिसके कारण उसके पिता रेवाराम बह गए। पुलिस ने दोपहर हुए इस हादसे में मर्ग कायम करने के बाद जांच शुरू कर दी है।

भाई को राखी बांधने का अरमान लेकर हो गई विदा

रक्षाबंधन पर्व पर अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने और त्यौहार की खुशियाँ मनाने के लिए बहन ने दो दिन तक खूब तैयारियां कीं और ट्रेन में बैठकर मदन महल रेलवे स्टेशन पहुंची, इससे पहले कि वो ट्रेन से उतरती, पांव फिसल गया और वो सीधे रेल पटरियों पर गिरी, सिर फट गया, देखते-ही देखते तड़प कर मौत हो गई। यह दर्दनाक वाक्या जिसने भी देखा, कुछ देर के लिए उनका दिल दहल गया। जीआरपी मदन महल के चौकी प्रभारी राजेश राज ने बताया कि भिटौनी निवासी सरोज बाई ठाकुर पति खडग़सिंह ठाकुर गुरुवार को रक्षाबंधन के अवसर पर जबलपुर में एमएलबी स्कूल के पास रहने वाले अपने भाई मदन सिंह को राखी बाँधने के लिए इटारसी सतना शटल से मदन महल रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नं. 2 पर आईं थीं, सुबह 9.45 बजे जल्दबाजी में उतरने के चक्कर में सरोज का पाँव पायदान से फिसल गया और वो पटरी पर सिर के बल गिर गई। महिला यात्री के साथ हुए हादसे को देखते ही यात्रियों में दहशत फैल गई। जिसकी सूचना मिलते ही  आनन-फानन में जीआरपी की टीम मौके पर पहुंची और 108 एम्बुलेंस को बुलवाया, जब तक 108 आई, महिला यात्री की सांसों के तार टूट चुके थे, भाई को राखी बाँधने का अरमान लेकर एक बहन रक्षाबंधन के दिन  दूसरी दुनिया के लिए  विदा हो चुकी थी।  इस हादसे को देखकर यात्रियों की आँखों में आंसू आ गए। 

खबरें और भी हैं...