बैठे बैठे लुढ़क गया - पुलिस ने दर्ज किया मामला : भरवेली माइंस के दो मजदूरों की मौत - डाक्टरों ने कहा ,सीवियर हार्ट अटैक

September 29th, 2021

डिजिटल डेस्क बालाघाट । भरवेली माइंस में काम करने वाले दो मजूदरों की मंगलवार को अचानक तबीयत खराब होने के बाद इलाज के दौरान मौत हो गई। मॉइल अस्पताल के मुताबिक, दोनों मजदूरों की मौत सीवियर हार्ट अटैक की वजह से हुई थी। हालांकि, खबर लिखे जाने तक दोनों मृतकों की पीएम रिपोर्ट सामने नहीं आई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, मृतक बेनीराम पिता मिसतरिया बावने उम्र-55 वर्ष निवासी वार्ड-8 भरवेली और लिखीराम पिता चमारू जामरे उम्र-56 वर्ष, निवासी ग्राम सुरवाही थाना-भरवेली का लंच टाइम के बाद स्वास्थ बिगड़ गया। जिसमें मृतक लिखीराम की भरवेली माइंस के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि दूसरे मजदूर को जिला अस्पताल ले जाते वक्त उसने दम तोड़ दिया। भरवेली पुलिस ने मर्ग कामय कर विवेचना शुरू कर दी है। 
बैंच पर बैठे-बैठे लुढ़क गया लिखीराम 
जानकारी के अनुसार, मृतक बेनीराम और लिखीराम दोनों सुबह 8 से अपराह्न 5 बजे तक की ड्यूटी पर थे। तबीयत खराब होने पर लिखीराम माइंस अस्पताल पहुंचे। लिखीराम का चेकअप करने वाले डॉ. विशेष नाग ने बताया कि स्वास्थ खराब होने की बात कहकर लिखीराम चेकअप कराने आया था। उसकी जांच की तो सबकुछ सामान्य था। दवाई लेने के लिए वह बैंच पर बैठा था, तभी वह अचानक बैंच से लुढ़क गया। देखने पर पता चला कि उसकी मृत्यु हो गई है। लिखीराम माइंस के अंडर ग्राउंड लेवल-10 पर और बेनीराम लेवल-4 ओपन कास्ट में काम कर रहा था। लंच के दौरान दोनों की अचानक तबीयत बिगड़ गई।
बेनीराम ने जिला अस्पताल में तोड़ा दम
मृतक बेनीराम बावने लंच टाइम में मजदूर साथियों के साथ खाना खाने बैठा था, तभी उसके नाक और मुंह से पानी निकलने लगा। उसे तुरंत माइंस अस्पताल लाया गया, जहां से उसे जिला अस्पताल लाया गया। अस्पताल में जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
इनका कहना है
मृतक लिखीराम को स्वास्थ बिगडऩे पर मैंने अटेंड किया था। सभी जांच में उसकी रिपोर्ट नॉर्मल थी। दवा लेते वक्त वह अचानक बैंच से गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई। जबकि दूसरे मरीज को जिला अस्पताल में मृत घोषित किया गया है। दोनों मरीजों की मौत सीवियर हार्ट अटैक से हुई है। 
डॉ. विशेष नाग, मॉइल अस्पताल, भरवेली
दोनों मृतकों में तबीयत खराब होने के बाद जो लक्षण बताए गए हैं, वह  सीवियर हार्ट अटैक जिसे मेडिकल की भाषा में एमआई (मायोकार्डियल इंफ्रेक्शन) कहा जाता है, के लक्षण थे। यह साफ है कि दोनों की मौत हृदय गति रुकने से हुई है। 
डॉ. मनोज पांडेय, सीएमएचओ, बालाघाट


 

खबरें और भी हैं...