comScore

जंगल में शिकार के लिए बिछाए गए करंट से दो युवकों की मौत 

जंगल में शिकार के लिए बिछाए गए करंट से दो युवकों की मौत 

 डिजिटल डेस्क बालाघाट। यहां किरनापुर के जंगल में दो युवकों के शव पाए गए हैं । दोनों युवको की शिनाख्त हो चुकी है ये दो दिन पूर्व मछली मारने जंगल गए तो फिर लौटकर घर नहीं आए । मृतकों के परिजन तभी से इनके परिजन इन्हें खोज रहे थे । पुलिस के अनुसार युवको जान करंट लगने से हुई है । जंगल में ये करंट अज्ञात आरोपियों ने शिकार के लिए बिछाया था । अपना अपराध छुपाने के लिए आरोपियों ने इन शवों को घटना स्थल से कुछ दूर झाडिय़ों के पास फे क दिया था । पुलिस मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही है । 
दो दिन पूर्व निकले थे घर से
इस संबंध में बताया गया है कि किरनापुर थाने की किन्ही चौकी अंतर्गत ग्राम ककोडी भुआकुड, ककोडी जंगल के परसाडी ब्लाक में 3 अक्टूबर की दोपहर ककोड़ी निवासी 21 वर्षीय संतोष पिता सुजन नगपुरे और 22 वर्षीय ढिग्गु उर्फ दिगंबर पिता विनोद भरने का शव ग्रामीणों की सूचना के बाद पुलिस ने बरामद किया था।  इन युवकों की मौत वन्यप्राणी के शिकार के लिए लगाये गये बिजली करंट से हुई थी।  मामला संदेहास्पद हो गया है। सूत्रों की मानें तो जहां मृतक मिले है, उससे दूर बिजली के तार लगे पाये गये। जहां निशान बता रहे है कि, वहां से युवकों की मौत के बाद उनके शवो को दूर तक घसीटते हुए लाकर, कुछ लोगों ने अपने अपराध को छुपाने का काम किया है। इस मामले में पुलिस ने अपराधिक मामले में, अज्ञात लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज कर जांच में लिया है। मामला संदेहास्पद होने से कई सवाल खड़े हो रहे है, मसलन युवक उस ओर क्यों गये थे? क्या युवक करंट बिछाने की घटना में अन्य लोगों के साथ थे? शवों को किसने घटनास्थल से दूर तक घसीटकर लाया? जिसको लेकर पुलिस जांच में जुट गई है। आज मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम करवाकर पुलिस ने शव परिजनोंं को सौंप दिया है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही इस गुत्थी को सुलझा दिया जायेगा। 
इनका कहना है
ककोड़ी के जंगल में दो युवकों की शिकार के लिए बिछाये गये करंट से मौत की घटना में अज्ञात लोगों के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज कर जांच में लिया गया है। आज मृतकों के शवों का पीएम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया गया है। मामले को जल्दी ही सुलझा दिया जायेगा।
अजय सोनी, थाना प्रभारी किरनापुर
 

कमेंट करें
tknfe