comScore

घर वापस आ रहे मजदूर आए ट्रेन के ईंजन की चपेट में - एक की मौत, एक ही हालत चिंताजनक

घर वापस आ रहे मजदूर आए ट्रेन के ईंजन की चपेट में - एक की मौत, एक ही हालत चिंताजनक

डिजिटल डेस्क बालाघाट । लॉकडाउन होने से परिवहन व्यवस्था पूरी तरह से बंद है। जिस वजह से हैदराबाद कमाने के सिलसिले में गए बालाघाट जिले के 20 मजदूर चंद्रपुर-गोंदिया रेलवे मार्ग से गोंदिया की ओर आ रहे थे कि इसी दौरान रेलवे ईंजन के चपेट में आ गए। इस घटना में एक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। वहीं दूसरा व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना 7 अप्रैल की दोपहर के दौरान सड़क अर्जुनी तहसील के राका-पिपरी रेलवे पुलिया पर घटित हुई है। मृतक का नाम मध्यप्रदेश राज्य के बालाघाट जिला अंतर्गत आनेवाले परसोड़ी (कुलपा ,लाँजी) निवासी डोमेश तुलसीदास पाचे (17) बताया गया है। वहीं गंभीर मजदूर का नाम सूरज द्विपत सत्यकर (22) बताया गया है। 
बता दें कि बालाघाट जिले के लाजिक किरनापुर क्षेत्र के 20 मजदूरों का परिवार हैदराबाद रोजीरोटी के लिए गया था। लेकिन कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए शासन ने पूरे देश को लॉकडाउन घोषित कर दिया। जिस वजह से मजदूरों को अपने गांव की ओर आने के लिए कोई यात्री परिवहन नहीं मिल रहा है। जिस वजह से मजदूरों का जत्था सैकड़ों मिल पैदल चलकर अपने गंतव्य की ओर निकल पड़े हैं। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश राज्य के किरनापुर के गंगाराम कावड़े, हासीचंद उईके, योगेश नागेश्वर, प्रेमलाल डेने, रामवती नागेश्वर, जितेन मानकर, पंकज नागेश्वर, हेमराज नागेश्वर, शिवदास मानेराव, टेकराम नागफासे, कुंवरलाल पाचे, अमिना नागफासे, ईश्वर मानेश्वर, सुखदास राजकवरे, डोमेश पाचे, सूरज सत्यकर चंद्रपुर-गोंदिया रेल पटरी से गोंदिया की ओर आ रहे थे। इसी बीच राका-पिपरी रेल पुलिया पार कर रहे थे कि इसी दौरान गोंदिया से वड़सा की ओर जा रहे रेलवे ईंजन की चपेट में आ गए। इस घटना में डोमेश पाचे की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। वहीं सूरज सत्यकर गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही राका ग्राम के आपातकालीन समिति के शंकर मेंढे, जिप सदस्य माधुरी पाथोड़े, पंस सभापति गिरीधर हत्तीमारे, पुलिस पटेल मुन्नालाल पंचभाई, पत्रकार सुधीर शिवणकर, रोहन उपरीकर, अशोक मेंढे, सतीश महारवाड़े आदि घटना स्थल पर पहुंचकर सभी मजदूरों की मदद की। घटना की जानकारी डुग्गीपार पुलिस थाने को दी गई। सभी पीडि़त मजदूरों को खाने एवं अन्य सुविधा मुहैय्या कराई गई।

कमेंट करें
uI3Fd