दैनिक भास्कर हिंदी: IND vs ENG T20i: 2 साल से अजेय टीम इंडिया ने जीती लगातार छठवीं टी-20 सीरीज, इंग्लैंड को 3-2 से हराया

March 20th, 2021

हाईलाइट

  • भारत-इंग्लैंड के बीच पांचवां टी-20 मैच
  • आज जीतने वाली टीम करेगी सीरीज पर कब्जा
  • दोनों टीमों को 2-2 मैचों में मिली जीत

डिजिडल डेस्क, अहमदाबाद। भारतीय टीम ने इंग्लैंड को आखिरी और निर्णायक टी-20 में 36 रन से हरा दिया। इसी के साथ 5 टी-20 की सीरीज 3-2 से अपने नाम कर ली। आखिरी मुकाबले में भारत ने इंग्लैंड को 225 रनों का लक्ष्य दिया था। जवाब में इंग्लैंड की टीम 188 रन ही बना सकी। 2 साल से अजेय टीम इंडिया ने लगातार छठी सीरीज जीती है। वहीं, इंग्लैंड टीम 9 साल से भारतीय जमीन पर कोई द्विपक्षीय टी-20 सीरीज नहीं जीत सकी। इससे पहले उसने टीम इंडिया को अक्टूबर 2011 में शिकस्त दी थी। तब दोनों टीम के बीच एक ही मैच की सीरीज खेली गई थी।

टीम इंडिया ने नवंबर 2019 के बाद से सभी 6 टी-20 सीरीज जीती हैं। जबकि, इंग्लिश टीम ने सितंबर 2020 के बाद से पहली टी-20 सीरीज हारी। इस दौरान दो सीरीज जीती हैं। भारतीय टीम पिछली 8 टी-20 सीरीज से हारा नहीं है। उसे पिछली हार फरवरी, 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली थी। जबकि, सितंबर 2019 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2 टी-20 की सीरीज 1-1 से बराबर रही थी। सितंबर 2017 के बाद से भारतीय टीम ने निदाहास ट्रॉफी समेत पिछली 20 सीरीज में से 2 गंवाई हैं। इंग्लैंड की बात की जाए तो इस दौरान वह भी 2 सीरीज हारी है। उसे आखिरी बार जुलाई, 2018 में भारत ने ही टी-20 सीरीज में हराया था।

कोहली को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया
भारतीय टीम ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 2 विकेट गंवाकर 224 रन बनाए थे। कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा ने फिफ्टी लगाई। विराट ने 52 बॉल पर 80 और रोहित ने 34 बॉल पर 64 रन बनाए। कोहली को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया। उन्होंने 5 मैच में 115.50 की औसत से सबसे ज्यादा 231 रन बनाए। इस दौरान विराट ने 3 नाबाद फिफ्टी भी लगाईं।

भुवनेश्वर मैन ऑफ द मैच बने
जवाब में इंग्लिश टीम 8 विकेट गंवाकर 188 रन ही बना सकी। डेविड मलान ने 46 बॉल पर सबसे ज्यादा 68 रन की पारी खेली। जोस बटलर ने 34 बॉल पर 52 रन बनाए। मलान ने टी-20 करियर की 10वीं और जोस बटलर ने 12वीं फिफ्टी लगाई। 15 रन देकर 2 विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इंग्लैंड की खराब शुरुआत
इंग्लिश टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम को पारी के पहले ओवर की दूसरी बॉल पर पहला झटका लगा। तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने ओपनर जेसन रॉय को क्लीन बोल्ड किया। इसके बाद जोस बटलर ने डेविड मलान के साथ दूसरे विकेट के लिए 75 बॉल पर 130 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। यहां भुवनेश्वर ने ही दूसरा झटका दिया। उन्होंने बटलर को हार्दिक के हाथों कैच आउट कराया। बटलर ने 34 बॉल पर 52 रन की पारी खेली। 15वें ओवर में शार्दूल ठाकुर ने 2 विकेट लेकर मैच का रुख बदल दिया। उन्होंने जॉनी बेयरस्टो (7 रन) को सूर्यकुमार के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद मलान को क्लीन बोल्ड किया। 16वें ओवर में हार्दिक पंड्या ने इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन (1 रन) को पवेलियन भेजकर जीत पक्की कर दी। यहां से इंग्लैंड टीम वापसी नहीं कर सकी और भारतीय टीम ने मैच के साथ सीरीज अपने नाम कर ली।

मलान टी-20 इंटरनेशनल में सबसे तेज 1,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने
मलान टी-20 इंटरनेशनल में सबसे तेज 1,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने इस मैच में 65 रन बनाते ही यह उपलब्धि हासिल की। यह उनकी 24वीं पारी है। मलान ने पाकिस्तान के बाबर आजम का रिकॉर्ड तोड़ दिया। बाबर ने 26 पारियों में 1,000 रन पूरे किए थे। साथ ही मलान हजार रन बनाने वाले इंग्लैंड के 7वें बैट्समैन बन गए। इससे पहले जेसन रॉय, इयोन मोर्गन, जोस बटलर, एलेक्स हेल्स, केविन पीटरसन और जॉनी बेयरस्टो 1,000 रन बना चुके हैं।

टी-20 में सबसे कम पारियों में 1 हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज
24 पारी - डेविड मलान
26 पारी - बाबर आजम
27 पारी - विराट कोहली
29 पारी - आरोन फिंच, केएल राहुल
32 पारी - केविन पीटरसन, एलेक्स हैल्स और फाफ डुप्लेसिस

विराट ने दो रिकॉर्ड अपने नाम किए
विराट सबसे ज्यादा 12 बार 50+ स्कोर बनाने वाले कप्तान बन गए हैं। इस मामले में उन्होंने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन (11 बार) को पीछे छोड़ दिया। तीसरे नंबर पर काबिज ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच ने 10 बार यह कारनामा किया है। इसके अलावा विराट अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान बन गए हैं।

टी-20 में सर्वाधिक रन बनाने वाले कप्तान 
1464 रन - विराट कोहली
1462 रन - एरॉन फिंच
1383 रन - कैन विलियम्सन
1321 रन - इयोन मोर्गन
1273 रन - फाफ डुप्लेसिस

इंग्लैंड के खिलाफ भारत का सबसे बड़ा स्कोर
भारतीय टीम ने 2 विकेट गंवाकर 224 रन बनाए। यह सीरीज में किसी भी टीम का बेस्ट स्कोर है। साथ ही यह टीम इंडिया का टी-20 इंटरनेशनल में इंग्लैंड के खिलाफ सबसे बड़ा और ओवरऑल चौथा सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले इंग्लैंड के खिलाफ भारत का सबसे बड़ा स्कोर 218/4 जो पहले टी-20 वर्ल्ड कप (2007 में) के दौरान डरबन में बना था।कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा ने फिफ्टी लगाई। विराट ने 52 बॉल पर 80 और रोहित ने 34 बॉल पर 64 रन बनाए। इनके अलावा सूर्यकुमार यादव ने 17 बॉल पर 32 और हार्दिक पंड्या ने 17 बॉल पर नाबाद 39 रन की पारी खेली।

तीन बड़ी साझेदारी से भारतीय टीम का स्कोर 200 के पार
टीम इंडिया की शुरुआत बेहद शानदार रही। विराट कोहली और रोहित शर्मा ने 94 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की। यह सीरीज में किसी भी टीम के बेस्ट ओपनिंग पार्टनरशिप भी रही। यहां रोहित 34 बॉल पर 64 रन बनाकर आउट हुए। रोहित टी-20 करियर की 22वीं फिफ्टी लगाकर बेन स्टोक्स की बॉल पर क्लीन बोल्ड हुए। यहां से कोहली ने सूर्यकुमार यादव के साथ दूसरे विकेट के लिए 26 बॉल पर 49 रन की पार्टनरशिप की। 143 रन पर टीम इंडिया को दूसरा झटका लगा। सूर्यकुमार 17 बॉल पर 32 रन बनाकर आउट हुए। अब्दुल राशिद की बॉल पर क्रिस जॉर्डन और जेसन रॉय ने मिलकर बाउंड्री पर शानदार कैच लिया। कोहली ने एक छोर संभाले रखा और टी-20 करियर की 26वीं फिफ्टी लगाई। उन्होंने आखिर में हार्दिक पंड्या के साथ तीसरे विकेट के लिए 40 बॉल पर 81 रन की नाबाद पार्टनरशिप कर टीम का स्कोर 224 रन तक पहुंचाया। इंग्लैंड के स्पिनर आदिल राशिद और ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने 1-1 विकेट लिया। तेज गेंदबाज मार्क वुड ने 53 और क्रिस जॉर्डन ने 57 रन दिए, लेकिन कोई विकेट नहीं मिला।

रोहित ने जीवनदान का फायदा उठाकर फिफ्टी जड़ी
8वें ओवर की 5वीं बॉल पर मार्क वुड ने बाउंड्री पर रोहित शर्मा का कैच छोड़ा था। ओवर सैम करन का था। रोहित इस समय 45 रन पर खेल रहे थे। इस जीवनदान का रोहित ने फायदा उठाया और अगली बॉल पर छक्का लगाकर फिफ्टी पूरी की।

सीरीज का बेस्ट पावर-प्ले परफॉर्मेंस भारतीय टीम के नाम
इस मैच में भारतीय टीम ने पावर-प्ले में बिना विकेट गंवाए 60 रन बना लिए थे। यह सीरीज के पावर-प्ले में किसी भी टीम का बेस्ट स्कोर है। इससे पहले इंग्लैंड ने तीसरे मैच में एक विकेट गंवाकर 57 रन बनाए थे। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने प्लेइंग-11 में एक बदलाव किया है। ओपनर लोकेश राहुल को बाहर कर तेज गेंदबाज टी नटराजन को मौका दिया है। वहीं कप्तान इयोन मोर्गन ने प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया।

खबरें और भी हैं...