700 जिलों को किया जाएगा कवर: देशभर के स्कूली छात्रों के सीखने की क्षमता का आकलन करेगा एनसीईआरटी

November 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) कोरोना और कोरोना के बाद स्कूली छात्रों के सीखने की क्षमता का आकलन करेगा। इसमें 700 से अधिक जिलों के लाखों छात्रों को कवर किया जाएगा। इस दौरान छात्रों की स्थिति और कोरोना के बाद किस तरह से करिकुलम में बदलाव की आवश्यकता है, यह पता लगाया जा सकता है। खासतौर पर भाषा, गणित, ईवीएस, विज्ञान और सामाजिक जैसे विभिन्न विषय क्षेत्रों में आकलन किया जाना है।

कोविड-19 महामारी के दौरान छात्रों के सीखने की क्षमता को समझने के लिए स्कूलों की सामाजिक आर्थिक स्थिति पर सर्वेक्षण शुरू किया जाएगा है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान यह बता चुके हैं कि स्कूली छात्रों के सीखने की दक्षता का आकलन इस वर्ष नवंबर में आयोजित किया जा सकता है। एनसीईआरटी यानी राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद कक्षा 3,5,8 और10वीं के बच्चों की सीखने की उपलब्धि का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण आयोजित करता है। इससे पहले यह वर्ष 2017 में आयोजित किया गया था। इस वर्ष यह राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण इसी माह नवंबर में आयोजित किया जाएगा। शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस) का आकलन 13 नवंबर 2017 को आयोजित किया गया था। इसमें 701 जिलों के 3,5 और 8वीं कक्षा के बच्चे शामिल हैं। सभी 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों और 1.10 लाख स्कूलों के 22 लाख छात्रों को इसमें कवर किया गया था। एनएएस 2017 के तहत 3,5 और 8वीं कक्षा के बच्चों का भाषा, गणित, ईवीएस, विज्ञान और सामाजिक जैसे विभिन्न विषय क्षेत्रों में आकलन किया गया।

इसी प्रकार 5 फरवरी, 2018 को पूरे देश में दसवीं कक्षा के लिए सर्वेक्षण किया गया था। सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूलों में 15 लाख छात्रों के सीखने के स्तर का 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 610 जिलों में आकलन किया गया। इसमें अंग्रेजी, गणित समेत 5 विषय में मूल्यांकन किया गया था। वहीं दूसरी ओर कोरोना के बाद रिओपन हो रहे स्कूलों में भी एनसीईआरटी छात्रों की मानसिक मदद कर रही है। एनसीईआरटी के विशेषज्ञ एवं अधिकारी छात्रों से लाइव जुड़कर उनकी मानसिक सामाजिक चिंताओं से निपटने में छात्रों की मदद करेंगे। विभिन्न आनलाईन चैनल्स के माध्यम से एनसीईआरटी के विशेषज्ञ देश भर में कक्षा 6 से 11वीं तक के छात्रों के साथ बातचीत करेंगे। अब जब देश में विभिन्न राज्यों ने स्कूल खोलना शुरू कर दिया है। ऐसे में एनसीईआरटी का कहना है हम चाहते हैं कि कोविड19 से निपटने में मदद छात्रों की मदद करेंगे। छात्र सुरक्षित रहें और विशेषज्ञों के साथ निशुल्क में लाइव बातचीत करें और देखें। एनसीईआरटी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल और पीएम ई विद्या डीटीएच टीवी चैनल से कक्षा 6 और 11 के छात्र जुड़ सकते हैं। छात्र यहां अपनी मानसिक सामाजिक चिंताओं का समाधान हासिल कर सकते हैं।

एनसीईआरटी ने आधिकारिक जानकारी देते हुए कहा कि प्रत्येक शुक्रवार को विशेषज्ञों के साथ लाइव चर्चा की जा सकती है। छात्र टोल फ्री नंबरों 8800440559, 8448440632 पर विशेषज्ञों से बातचीत कर सकते हैं।

(आईएएनएस)