comScore

अगर आप चाहते है वजन कम करना तो, गर्मियों में करें इन 5 चीजों का सेवन

अगर आप चाहते है वजन कम करना तो, गर्मियों में करें इन 5 चीजों का सेवन

डिजिटल डेस्क,मुंबई।अक्सर हम अपनी भाग-दौड़ भरी जिंदगी में खुद को फिट रखना भूल जाते हैं और हमारा वजन इतना बढ़ जाता हैं कि, धीरे-धीरे हमारा कॉन्फिडेंस लूज हो जाता है, इसलिए अगर आप अपने बढ़े हुए वजन और बेली फैट को लेकर काफी परेशान हैं तो आपको चिंता करने की जरुरत नहीं हैं, क्योंकि हम आपको बताएंगे ऐसी 5 चीजों के बारे में, जिनके सेवन से आपका वजन गर्मियों काफी तेजी से घटना शुरु हो जाएगा। इतना ही नहीं अगर आपने इनका नियमित सेवन किया तो आपका वजन कंट्रोल भी रहेगा।

दही

How terracotta curd setters are taking over the market - Ellementry

गर्मियों के मौसम में अक्सर लोग दही खाते हैं लेकिन क्या आपको पता हैं कि, दही के सेवन से आपका वजन घट सकता हैं। जी हां, दही ना सिर्फ वजन घटाने मे कारगर होता है, बल्कि यह हड्डियों को मजबूत करने, पाचन क्रिया बेहतर करने, कोलेस्ट्रोल को संतुलित करने और हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में भी मददगार होता है। बता दें कि, दही में ऐसे ढ़ेरों प्रोबायोटिक्स पाए जाते हैं, जो पाचन को बढ़ावा देने के साथ वजन घटाने में भी काफी कारगर साबित होते है।

छाछ

छाछ के फायदे और नुकसान - Buttermilk (chaas) benefits and side effects

दूध और दही से निकली हुई तीसरी चीज होती हैं छाछ। अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो नियमित रुप से एक गिलास छाछ का सेवन करें। छाछ आपके पाचन तंत्र को ठीक रखने के साथ पेट की चर्बी घटाने में काफी मददगार होता हैं क्योंकि छाछ में कैलोरी और फैट की मात्रा बहुत कम होती है। यह एक तरह से फैट बर्नर का काम भी करता है।

नींबू

honey and lemon benefits: Honey And Lemon Benefits : शहद और नींबू का करें सेवन, मिलेंगे ये 5 फायदे - health benefits of honey and lemon in hindi | Navbharat Times

वजन घटाने के लिए नींबू रामबाण का काम करता है और गर्मियों में नींबू हाइड्रेट रहने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। बता दें कि, रोजाना सुबह खाली पेट हल्के गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर पीना चाहिए इससे वजन कम हो सकता है। इसके अलावा नींबू पानी में आप शहद मिलाकर भी पी सकते हैं। लेकिन खीरे के रस में नींबू का रस मिलाकर पीने से जल्दी से वजन कम होता है। 

तरबूज

तरबूज से बना ये फेस पैक, आपकी त्वचा पर ले आएगा निखार, जानें कैसे बनाएं

गर्मियों के सीजन में आपके घर में तरबूज तो जरुर आता होगा और आप खाते भी होंगे। लेकिन क्या आपको पता हैं कि, तरबूज के नियमित सेवन से वजन कम होता हैं। जी हां, इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जिससे तरबूज खाने से आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है। तरबूज में जीरो फैट और बहुत ही कम मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है। यही वजह है कि यह वजन कम करने में हेल्पफुल है। 

लौकी 

प्रेगनेंसी के दौरान लौकी का सेवन: फायदे और जूस बनाने की रेसिपी | Consuming Bottle Gourd in Pregnancy in Hindi

गर्मियों के सीजन में लौकी का सेवन बहुत अच्छा होती है। पहली बात ये कि, लौकी हरी सब्जी हैं और दूसरी बात ये कि, लौकी के सेवन से आपका वजन तेजी से कम होता है।एक लौकी में लगभग 15 कैलौरी और ढेर सारा विटामिन, खनिज और फाइबर पाया जाता है, इसलिए वजन घटाने के लिए इसे एक आदर्श सब्‍जी के रूप में देखाा जाता है। बता दें कि, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम पोटेशियम और जिंक पाया जाता है जो फैट को कम करने में मदद कर सकते हैं।

कमेंट करें
bFG6Q
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।