comScore

इस गर्मी ऑयली स्किन वाले ट्राई करें ये मुल्तानी मिट्टी फेस पैक और पाएं कील-मुहांसों से मुक्ति

इस गर्मी ऑयली स्किन वाले ट्राई करें ये मुल्तानी मिट्टी फेस पैक और पाएं कील-मुहांसों से मुक्ति

डिजिटल डेस्क। बहुत से लोगों की तरह अगर आपकी स्किन भी ऑयली है तो इससे जुड़ी प्रॉब्लम के बारे में आपको पता होगा। जिस तरह ड्राई स्किन वालों को कुछ खास देखभाल की जरूरत होती है उसी तरह ऑयली स्क‍िन वालों को भी काफी ध्यान देना होता है। ऑयली स्क‍िन वालों को सबसे अधिक परेशानी कील-मुंहासों की होती है। इसके अलावा ऐसी स्किन वालों के लिए मेकअप करना भी किसी चुनौती से कम नहीं होता। दरअसल, ऐसी त्वचा पर मेकअप ज्यादा समय तक टिकता नहीं है। इसके अलावा अगर समय-समय पर चेहरा नहीं धोया जाए तो त्वचा चिपचिपी और बुझी-बुझी नजर आती है। मुल्तानी मिट्टी सौन्दर्य निखारने का सबसे सस्ता और आयुर्वेदिक नुस्खा है। मुल्तानी मिट्टी सभी प्रकार के फेस पैक का बेस होती है। इसकी सहायता से आप अपने रूप को निखार कर आकर्षक बना सकती हैं। मुंहासों की समस्या से परेशान लोगों के लिए तो मुल्तानी मिट्टी सबसे कारगर इलाज है, क्योंकि मुल्तानी मिट्टी चेहरे का तेल सोख लेती है, जिससे मुंहासे सूख जाते हैं। साथ ही यह चर्मरोगों को दूर करने एवं त्वचा को मुलायम रखने में बहुत सहायक होती है। मुल्‍तानी मिट्टी में कई प्रकार के मिनरल जैसे - मैग्‍नीशियम, क्‍वार्ट्ज, सिलिका, आयरन, कैल्शियम, कैल्‍साइट आदि पाये जाते हैं। तो चलिए जानते हैं मुल्तानी मिट्टी के कुछ फेस पैक के बारे में।

कमेंट करें
fMLXP
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।