दैनिक भास्कर हिंदी: वर्कलोड ऐसे करें कम.. वाहवाही के चक्कर में ना गंवाएं सुख-चैन

August 14th, 2018

डिजिटल डेस्क। दफ्तर कोई भी हो काम हर जगह बराबर होता है, यानी कि ज्यादा से ज्यादा से होता है। टाइम पर ऑफिस पहुंचाना, वक्त पर हर काम निपटाना और फिर वक्त पर घर लौटना। कभी काम ज्यादा हो तो वो भी घर ले आते है। वहीं अगर काम ना हो तो बॉस की डांट और ऑफिस पॉलिटिक्स का अलग से सामना करना। इन सब परेशानियों को केवल हम नहीं,हमारा दिमाग भी बराबरी से झेलता है। वक्त पर काम करने के लिए हम इतना प्रेशर में आ जाते हैं कि कई बीमारियों हमें घेर लेती हैं। बीमारियों का इलाज तो डॉक्टर कर देगा लेकिन काम के प्रेशर को कैसे कम करेंगे? तो ये अच्छे से समझ लीजिए की वर्कलोड का प्रेशर आपको ही कम करना है। आज हम आपको वर्कलोड के प्रेशर को कम करने के तरीके बताएंगे।