दैनिक भास्कर हिंदी: गलवान में शहीद हुए कर्नल का परिवार तेलंगाना में गृहनगर पहुंचा

June 17th, 2020

हाईलाइट

  • गलवान में शहीद हुए कर्नल का परिवार तेलंगाना में गृहनगर पहुंचा

हैदराबाद, 17 जून (आईएएनएस)। लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए कर्नल बी.संतोष बाबू का परिवार बुधवार को नई दिल्ली से हैदराबाद पहुंचा और बाद में तेलंगाना में अपने गृह नगर सूयार्पेट के लिए रवाना हो गया।

अधिकारी की पत्नी संतोषी, नौ साल की बेटी अभिग्ना और चार साल के बेटे अनिरुद्ध को राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर साइबराबाद के पुलिस आयुक्त वी.सी. सज्जनार और सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने रिसीव किया।

वे बाद में सूयार्पेट के लिए रवाना हुए, जहां कर्नल के शव को अंतिम संस्कार के लिए लाया जाएगा।

संतोष बाबू (39) और 19 सैनिक सोमवार को लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में शहीद हुए थे।

16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर संतोष पिछले डेढ़ साल से भारत-चीन सीमा पर तैनात थे। उनका हैदराबाद तबादला होना था जिसमें कोविड-19 के कारण देरी हुई।

सूर्यापेट में शोक का माहौल है। संतोष के पिता बी.उपेंद्र (एक सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी) और मां मंजुला ने कहा कि वे अपने इकलौते बेटे को खोने से दुखी हैं लेकिन उन्हें अपने बेटे पर गर्व है जिसने देश के लिए बलिदान दिया।

संतोष ने कोरुकोंडा के सैनिक स्कूल में दाखिला लिया था और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और भारतीय सैन्य अकादमी से स्नातक किया था। वह 2004 में भारतीय सेना में शामिल हो गए थे और कर्नल के पद पर पहुंचे।

मंजुला ने कहा, वह बहुत प्रतिभाशाली था और उसने कई पुरस्कार जीते थे। वह और भी उपलब्धियां हासिल करने के लिए उत्सुक था।