दैनिक भास्कर हिंदी: शाह के कुत्ते-बिल्ली वाले बयान पर भड़का विपक्ष, कहा- उनके DNA में है ऐसी भाषा

April 7th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस और कई अन्य विपक्षी पार्टियों की तुलना 'सांप, कुत्ते, बिल्ली' से करने पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की घोर निंदा की जा रही है। अमित शाह के इस बयान पर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि शाह की टिप्पणियां 'शर्मनाक' हैं, यह उनकी मानसिकता को दर्शाता है। उनके डीएनए में ऐसी भाषा है। वह राजनीतिक चर्चा को एक 'नए निचले स्तर' पर ले गए हैं। भाकपा और तृणमूल कांग्रेस ने भी शाह के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि कोई भी सत्तारूढ़ राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष से इस तरह के बयान की अपेक्षा नहीं रखता है।

 

 

क्या बोले थे शाह 

बता दें कि शाह ने भाजपा के स्थापना दिवस पर मुंबई में एक रैली में कहा था, '2019 (चुनाव) के लिए उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। विपक्षी एकजुटता का प्रयास कर रही है। शाह ने कहा कि "जब भारी बाढ़ आती है तो सब कुछ बह जाता है, केवल एक वटवृक्ष बचता है और बढ़ते पानी से खुद को बचाने के लिए सांप, नेवला, कुत्ते और बिल्लियां और अन्य जानवर साथ आ जाते हैं। 'मोदी बाढ़ के कारण सभी बिल्ली, कुत्ते, सांप और नेवला मुकाबला करने साथ आ रहे हैं।' अमित शाह के इस बयान को लेकर नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख उमर अब्दुल्ला ने भी ट्वीट किया, कि 'क्या भाजपा अध्यक्ष ने माननीय प्रधानमंत्री की प्राकृतिक आपदा से तुलना की?

 

 

वहीं कांग्रेस के संचार प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि शाह अपने राजनीतिक विरोधियों को कुत्ते और बिल्ली समझते हैं। यह उनके अहंकार के कारण है। वहीं भाकपा नेता डी राजा ने कहा कि एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष से कोई भी इस तरह की शब्दावली की उम्मीद नहीं करता है। इस देश के लोग उन्हें कड़ा जवाब देंगे। बता दें कि बीते दिन बीजेपी का 38 वां स्थापना दिवस था, मुंबई में शाह ने करीब 3 लाख कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। 

 

इस जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी समेत पूरे विपक्ष पर जमकर हमला बोला था। अमित शाह ने इस दौरान कांग्रेस और कई अन्य विपक्षी दलों की तुलना 'सांप, कुत्ते, बिल्ली और नेवले' से कर दी थी। अमित शाह के इस बयान को लेकर अब विपक्ष बीजेपी पर हमलावर हो गया है।