दैनिक भास्कर हिंदी: बीजेपी नेता बोले- महिला रिपोर्टर बेड शेयर किए बिना नहीं बन सकती एंकर, अब मांगी माफी

April 20th, 2018

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। महिला पत्रकारों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले तमिलनाडु के बीजेपी नेता एसवी शेखर रेड्डी ने माफी मांग ली है। वहीं फेसबुक पर किया गया पोस्ट भी उन्होंने हटा लिया है। बता दें कि बीजेपी नेता ने फेसबुक पर पोस्ट कर लिखा था कि 'बड़े लोगों के साथ सोए बिना कोई भी महिला पत्रकार न्यूज़ एंकर या रीडर नहीं बन सकती।'

शेखर ने अपनी सफाई में कहा, "मैंने ये पोस्ट बिना मैसेज देखे कर दिया था। जब मेरे दोस्त ने मुझे इस बारे में बताया तो मैंने तुरंत इसे हटा दिया। इसे लेकर अनजाने में जो महिलाओं की भावनाओं को ठेस पहुंची है, उसके लिए मैं माफी मांगता हूं।" शेखर ने आगे कहा, वह फेसबुक पोस्ट में व्यक्त विचारों का समर्थन नहीं करते हैं। वह एक ऐसे परिवार से आते है जो महिलाओं का सम्मान करता है।

 

 


इस बीच तमिलनाडु के पत्रकारों ने शेखर के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। एक पत्रकार ने कहा, बीजेपी नेता ने अपने विचार इस तरह से दिए हैं कि यह न केवल पत्रकार को बदनाम कर रहा है बल्कि सभी महिलाओं के लिए अपमानजनक है।

दूसरी तरफ, बीजेपी नेता केटी राघवन ने शेखर की माफ़ी मांगने के लिए सराहना की और कहा कि मामले को अब तूल नहीं दिया जाना चाहिए। हालांकि उन्होंने ये भी साफ किया कि पार्टी इस तरह की बातों का समर्थन नहीं करती है।

बता दें कि हाल ही में चेन्नई में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में तमिलनाडु के गवर्नर बनवारी लाल पुरोहित ने एक महिला पत्रकार के गाल छूए थे। विवाद बढ़ने के बाद गवर्नर ने माफी मांगी ली थी। इसके एक दिन बाद वरिष्ठ बीजेपी नेता एस वी शेखर ने गुरुवार को विवादास्पद फेसबुक पोस्ट शेयर किया। इस फेसबुक पोस्ट का शीर्षक था, ‘मदुरई यूनिवर्सिटी, गवर्नर एंड द वर्जिन चीक्स ऑफ ए गर्ल।’ इस पोस्ट में दावा है कि कोई भी महिला बड़े लोगों के साथ सोए बिना न्यूज रीडर या रिपोर्टर नहीं बन सकती।

 



फेसबुक पोस्ट में लिखा है, “हाल ही में की गई शिकायतों से कड़वी सच्चाई बाहर आ चुकी है। इन (गाली) महिलाओं ने गवर्नर पर सवाल उठाए हैं। मीडिया के लोग तमिलनाडु के तुच्छ, नीच और असभ्य जन हैं। कुछ अपवाद हैं। मैं सिर्फ उनकी इज्जत करता हूं, अन्यथा तमिलनाडु का पूरा मीडिया अपराधियों, धूर्तों और ब्लैकमेलर्स के हाथ में है।”